पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Two Weeks After The Corona Curfew, The Infection Rate Dropped From 31.21% To 24.95%, Recovery Rate Also Doubled

संक्रमण से थोड़ी राहत:कोरोना कर्फ्यू के दो सप्ताह बाद संक्रमण दर 31.21% से घटकर 24.95% पर आई, रिकवरी रेट भी दोगुनी

ग्वालियरएक महीने पहलेलेखक: अंशुल वाजपेयी
  • कॉपी लिंक
  • ग्वालियर में 15 अप्रैल से लगा है कोरोना कर्फ्यू, इसके असर से अब घटने लगा है कोरोना संक्रमण
  • चिंता... मृत्यु दर 0.94% से बढ़कर 2.80% पर पहुंची, यानी अब तीन गुना ज्यादा मौतें

कोरोना वायरस की चेन को तोड़ने के लिए प्रशासन ने शहर में 15 अप्रैल से कोरोना कर्फ्यू लगा रखा है। शुरुआती 14 दिनों में संक्रमण कम नहीं हुआ लेकिन बीते आठ दिन में न सिर्फ संक्रमण दर में कमी आई, बल्कि रिकवरी रेट भी 90 प्रतिशत के पार पहुंच गई है। कोरोना कर्फ्यू के शुरुआती 14 दिनों में संक्रमण दर 30 % से ज्यादा रही, लेकिन इसके बाद से इसमें 4 प्रतिशत की कमी आई।

अब चिंता की बात यह है कि शहर में कोरोना वायरस संक्रमण से लोगों की मौत का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। स्थिति यह है कि बीते सात दिन में ही 206 कोरोना संक्रमितों ने दम तोड़ दिया। संक्रमण की दर पिछले दो सप्ताह में 0.94 फीसदी से बढ़कर तीन फीसदी के करीब पहुंच गई है। विशेषज्ञों का कहना है कि संक्रमण तेजी से फैलने और वायरल लोड अधिक होने से कम समय में मरीजों की मौत हो रही है। ऐसे में संक्रमण के लक्षण दिखते ही तुरंत जांच कराएं और डॉक्टर के संपर्क में रहें।

31 मार्च के बाद से बढ़ी पॉजिटिव केसों की संख्या
27 नवंबर को शहर में 107 पॉजिटिव केस मिले थे। इसके बाद से लेकर 30 मार्च तक पॉजिटिव केसों की संख्या 100 से कम ही रही। 31 मार्च को हुई जांच में 120 संक्रमित मिले थे, तब से लगातार शहर में पॉजिटिव केसों की संख्या 100 से ज्यादा ही रही है। गौरतलब है कि 10 अप्रैल को 458, 20 अप्रैल को 1219, 30 अप्रैल को 1136 और 6 मई को 910 पॉजिटिव केस मिले थे।

एक्सपर्ट व्यू; आने वाले दिनों में पॉजिटिव केस और कम होंगे

^अप्रैल के मध्य से अंत तक जेएएच सहित अन्य अस्पतालों में भर्ती होने के लिए मरीजों को बहुत परेशानी हुई, क्योंकि कम दिनों में संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ी थी। मई से स्थितियों में सुधार होता दिख रहा है। यदि लोगों नेसतर्कता बरती तो आने वाले दिनों में पॉजिटिव केसों की संख्या में और कमी आएगी। मृत्यु दर में तेजी इसलिए आई है क्योंकि इस बार वायरस तेजी से फैल रहा है। कम समय में स्थिति इतनी खराब हो रही है कि संक्रमित अस्पताल में भर्ती होने से पहले दम तोड़ रहे हैं। - डॉ. विजय गर्ग, असिस्टेंट प्रोफेसर, जीआरएमसी

खबरें और भी हैं...