• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Uncontrollable Tractor trolley Overturned While Climbing On The Highway From The Raw Road, 12 Injured In The Accident, 2 Serious

बाबा के दर्शन को जा रहे थे, पहुंच गए हॉस्पिटल:कच्चे रास्ते से हाइवे पर चढ़ते समय ट्रैक्टर-ट्रॉली अनियंत्रित होकर पलटी, 12 घायल, 2 गंभीर

ग्वालियर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ट्रैक्टर-ट्रॉली में सवार घायल, महिलाएं, बच्चे  व इनसाइट फोटो में बच्ची केे चेहरे पर चोट के निशान - Dainik Bhaskar
ट्रैक्टर-ट्रॉली में सवार घायल, महिलाएं, बच्चे व इनसाइट फोटो में बच्ची केे चेहरे पर चोट के निशान

ग्वालियर में भगवान के भजन गाते हुए कुछ लोग ट्रैक्टर-ट्रॉली में सवार होकर मुरैना के लिए निकले थे। यहां जौरा में कालेदेव बाबा के दर्शन सभी को करना था। आरोन रोड घाटीगांव में ट्रैक्टर-ट्रॉली कच्चे रास्ते से हाइवे पर चढ़ते समय अचानक अनियंत्रित हो गई। गाड़ी को आगे बढ़ाने स्पीड बढ़ाई तो ट्रैक्टर-ट्रॉली पलट गई। हादसे में 12 लोग घायल हो गए। इनमें दो की हालत गंभीर है।

हाइवे से नीचे खेत में पड़ी ट्रैक्टर-ट्रॉली को सीधा करने के लिए प्रयास करते गांव के लोग।
हाइवे से नीचे खेत में पड़ी ट्रैक्टर-ट्रॉली को सीधा करने के लिए प्रयास करते गांव के लोग।

करहिया के रिछारी कलां निवासी रामवीर सिंह और परिवार-गांव के करीब 20 से 25 महिला, पुरुष, बच्चे रविवार सुबह जौरा स्थित कालेदेव बाबा के दर्शन के लिए निकले थे। सभी लोग किराए से ट्रैक्टर-ट्रॉली करके जौरा के लिए निकले थे। ट्रैक्टर-ट्रॉली में सवार होकर घाटीगांव के आरोन रोड पर पहुंचे ही थे, तभी कच्चे रास्ते से हाइवे पर चढ़ते समय ट्रैक्टर-ट्रॉली अनियंत्रित होकर पलट गई। गनीमत रही कि ट्रैक्टर-ट्रॉली के नीचे कोई नहीं दबा। पलटने से गिरने के दौरान बच्चे, महिला सहित 12 लोग घायल हो गए हैं। जिनमें दो की हालत गंभीर है।

आवाज सुनकर आसपास के लोगों ने बचाई जान

हादसे के बाद घायल महिलाएं-बच्चों की आवाज सुनकर आसपास से निकल रहे लोगों ने वाहनों को रोककर बचाव कार्य शुरू किया। साथ ही, DIAL 100 को सूचना दी। जब तक पुलिस मौके पर पहुंची, लोगों ने घायलों को बाहर निकाल लिया था। पुलिस ने थाना मोबाइल व एम्बुलेंस की मदद से घायलों को अस्पताल पहुंचाया। गंभीर घायलों की पहचान रामवीर और उदयवीर के रूप में हुई है।

समय रहते मिली मदद, बच गई जान

डॉक्टरों का कहना है कि समय रहते घायलों को भर्ती कराया गया है, जिससे जान बच गई। कुछ देर होने पर जान खतरे में भी पड़ सकती थी। बाकी घायलों को मामूली उपचार के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया।

खबरें और भी हैं...