• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Union Minister Jyotiraditya Said Make Cleanliness A Mass Movement, A Model Like Indore Will Have To Be Made In Gwalior

सिंधिया ने की विकास कार्यो की समीक्षा:केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य बोले-स्वच्छता को बनाएं जन आंदोलन, ग्वालियर में बनाना होगा इंदौर जैसा मॉडल

ग्वालियर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ग्वालियर में स्वच्छता को एक जन आंदोलन बनाना होगा। इंदौर की तर्ज पर ग्वालियर में भी स्वच्छता के कार्य हो, इसके लिये इंदौर मॉडल का अधिकारी अवलोकन करे और उसको जमीनी स्तर पर उतारने का काम करें। स्वच्छता के कार्य में समाज के सभी वर्गों का सहयोग लेकर ग्वालियर को स्वच्छ और सुंदर बनाने की मुहिम युद्ध स्तर पर चलाई जाए। केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर विकास कार्यो की समीक्षा के दौरान यह बात कही। सोमवार को कलेक्ट्रेट कार्यालय के सभाकक्ष में केन्द्रीय मंत्री सिंधिया ने ग्वालियर विकास के विभिन्न पहलुओं पर विस्तार से चर्चा की और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। बैठक में जिले के प्रभारी मंत्री एवं प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री भारत सिंह कुशवाह, लोक निर्माण विभाग के राज्य मंत्री सुरेश धाकड़, जिला पंचायत प्रशासकीय समिति की अध्यक्ष मनीष यादव, भाजपा के जिला ग्रामीण अध्यक्ष कौशल शर्मा, पूर्व मंत्री इमरती देवी आदि उपस्थित थे।

समीक्षा बैठक में स्वच्छता, यातायात, पर्यटन पर बात करते सिंधिया
समीक्षा बैठक में स्वच्छता, यातायात, पर्यटन पर बात करते सिंधिया

ग्वालियर को नंबर-1 बनाने के लिए पूरी ताकत लगानी होगी
केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि स्वच्छता में अगर इंदौर लगातार नंबर 1 आ रहा है तो ग्वालियर को भी प्रथम पंक्ति में लाने के लिये हमें पुरजोर प्रयास करने की आवश्यकता है। इंदौर में स्वच्छता के लिये किए जा रहे कार्यों का अनुशरण करते हुए हमें ग्वालियर में भी वही कार्य करना होगा। स्वच्छता के कार्य में समाज के सभी वर्गों का सहयोग लेते हुए जनप्रतिनिधियों को भी जवाबदेही स्वीकार करनी होगी। उन्होंने कहा कि शहर के सभी 66 वार्डों में जनप्रतिनिधियों को भी स्वच्छता की जिम्मेदारी सौंपी जाए। इस कार्य में सभी दलों के लोगों का सहयोग भी लिया जाए। प्रत्येक वार्ड को चार भागों में बांटकर चार जनप्रतिनिधियों को जवाबदारी सौंपें। इसके साथ ही प्रत्येक वार्ड में 10–10 लोगों की टोली भी स्वच्छता के कार्य के लिये बनाई जाए। जनप्रतिनिधि अपनी टोली के साथ वार्ड में जाकर स्वच्छता के कार्य को और बेहतर करने की दिशा में कार्य करे और जन जागृति का कार्य भी किया जाए।
ऐतिहासिक विरासत और संगीत की थीम पर टूरिस्ट प्लान बनाकर काम शुरू करें
केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पर्यटन विकास और टूरिज्म प्लान के संबंध में समीक्षा करते हुए कहा कि ग्वालियर में स्मार्ट सिटी और जिला प्रशासन मिलकर सर्वप्रथम ऐतिहासिक विरासतों और संगीत की थीम पर टूरिस्ट प्लान तैयार करें। बाहर से आने वाले पर्यटकों को इन दोनों थीम पर भ्रमण कराया जाए। आने वाले पर्यटकों को हर प्रकार की सुविधायें मुहैया हों, यह भी सुनिश्चित किया जाए। केन्द्रीय मंत्री सिंधिया ने कहा कि 15 जनवरी तक दोनों टूरिस्ट प्लान पर सभी तैयारियां पूर्ण कर ली जाएं। सिंधिया ने कहा कि 15 जनवरी को मैं स्वयं और जनप्रतिनिधि दोनों टूरिस्ट प्लान का भ्रमण करेंगे। इसके लिये जो निर्धारित शुल्क होगा वह भी अदा करेंगे। भ्रमण के दौरान हमें पर्यटकों को जो सुविधायें उपलब्ध कराई जाना है उसका उदाहरण भी प्रस्तुत किया जाए। इसके लिये प्रशासन पूरी तैयारियां समय रहते कर ले। प्रथम चरण में ऐतिहासिक विरासत और संगीत की थीम पर प्लान तैयार किया जाए, उसके पश्चात अन्य थीम पर भी प्लान बनाने का कार्य किया जाए।
कोरोना की संभावित तीसरी लहर की सभी तैयारियां करें
- केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए जिले में की जा रही तैयारियों की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सभी तैयारियां युद्ध स्तर पर पूर्ण की जाएं। ऑक्सीजन प्लांट, पलंगों की व्यवस्था के साथ ही दवा एवं अन्य जो भी व्यवस्थायें हैं वह समय रहते पूर्ण की जाएं। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बैठक में बताया कि कोविड की संभावित तीसरी लहर से बचने के लिये जिले में सभी तैयारियां की जा रही हैं। निजी चिकित्सालयों, नर्सिंग कॉलेज के साथ-साथ शासकीय अस्पतालों में भी पलंगों की व्यवस्था पर्याप्त संख्या में की गई है। उन्होंने यह भी बताया कि जिले में 45 नर्सिंग कॉलेजों की मान्यता भी समाप्त की गई है। जिले में कोविड की तीसरी लहर की संभावनाओं को देखते हुए चिकित्सकों, पैरामेडीकल स्टाफ की कमी को पूरा करने के लिये प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। इसकी स्वीकृति मिलने से जिले में सभी व्यवस्थायें ओर बेहतर हो सकेंगीं।
टीकाकरण युद्ध स्तर पर किया जाए
केन्द्रीय मंत्री सिंधिया ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण का कार्य भी युद्ध स्तर पर किया जाना चाहिए। प्रथम चरण में जिले में 96 प्रतिशत टीकाकरण का कार्य पूरा हुआ है। जबकि द्वितीय चरण में लगभग 2 लाख 50 हजार लोगों का टीकाकरण अभी शेष है। शेष बचे सभी लोगों का टीकाकरण शीघ्रता से हो यह सुनिश्चित किया जाए। टीकाकरण के कार्य में भी जनप्रतिनिधियों का सहयोग लिया जाए। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन क्राइसेस मैनेजमेंट समिति की बैठकें आयोजित हों और समिति के सदसय भी टीकाकरण के लिये लोगों को प्रेरित करें। श्री सिंधिया ने यह भी निर्देशित किया कि कोविड अनुकूल व्यवहार लोग अपनाएँ, इसके लिये भी जन जागरूकता के साथ-साथ जुर्माने की कार्रवाई भी की जाए।
यातायात प्रबंधन के लिये बनाएं ठोस रणनीति
केन्द्रीय मंत्री ने यातायात व्यवस्था की समीक्षा के दौरान कहा है कि ग्वालियर में यातायात प्रबंधन के लिये ठोस रणनीति बनाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि यातायात प्रबंधन का पूरा प्लान चरणबद्ध तरीके से तैयार किया जाए। यातायात में जो भी बाधक है उन्हें हटाने की कार्रवाई भी पूरी सख्ती के साथ की जाए। इसके साथ ही शहर में नगर निगम और स्मार्ट सिटी के माध्यम से आधुनिक पार्किंगों का निर्माण किया जा चुका है। सड़क पर वाहन खड़े करने वालों के विरूद्ध जुर्माने की कार्रवाई पुलिस करे। इसके साथ ही यातायात के प्रति लोगों को जागरूक करने का कार्य भी किया जाए। इसके लिए उन्होंने मल्टी लेबल पार्किंग का उद्घाटन भी किया है।
बैठक में इन बिंदुओं पर भी हुई चर्चा
- हस्तशिल्प सेंटर का हो निर्माण
- थीम रोड़ का कार्य शीघ्रता से करें पूर्ण
- एक हजार बिस्तर का निर्माण
- लिंक रोड़ निर्माण
- जेसी मिल के निवासियों को पट्टे का वितरण
- चंबल परियोजना
- जीवाजी मेडीकल कॉलेज
- रेलवे स्टेशन जीर्णोद्धार
- पश्चिम बाईपास
- ठाठीपुर पुनर्घनत्वीकरण योजना
- मार्क हॉस्पिटल
- डीआरडीओ
- एलीवेटेड रोड़
- महाराज बाड़ा का सौंदर्यीकरण
- स्टोन पार्क निर्माण
- इंटर स्टेट बस टर्मिनल शामिल हैं

खबरें और भी हैं...