पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Unlock The Temple But Devotees Away From God, Neither Religious Ritual Exemption Nor Devotees Are Able To Offer To God

कोरोना का असर:मंदिर अनलॉक लेकिन भगवान से दूर भक्त, न धार्मिक कर्मकांड को छूट और न ही भगवान को भेंट चढ़ा पा रहे भक्त

ग्वालियर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
साईं मंदिर: मत्था टेकने व प्रसाद चढ़ाने पर रोक
  • मन ही मेरा मंदिर...क्याेंकि फूलमाला, परिक्रमा और प्रसाद पर राेक

अनलॉक में शहर के सभी मंदिर खुले हुए हैं। भक्त, भगवान के दर्शन कर रहे हैं, लेकिन कोरोना संक्रमण की वजह से भगवान और भक्तों के बीच दूरी बरकरार है। भक्तों का भोग और प्रसाद भगवान तक नहीं पहुंच रहा है और न ही फूल-मालाएं। शहर के प्रमुख मंदिरों पर कोरोना संक्रमण की गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है। इसकी वजह से भक्त, भगवान के नजदीक नहीं पहुंच पा रहे हैं।

साईं मंदिर: मत्था टेकने व प्रसाद चढ़ाने पर रोक
शहर के प्रेम नगर रोड स्थित सांई मंदिर में भी कोरोना संक्रमण से बचने के लिए गाइड लाइन का पालन किया जा रहा है। यहां पर भक्तों से मत्था न टेकने की गुजारिश की जा ती है। भक्तों का प्रसाद और माला चढ़ाने पर भी प्रतिबंध है, फिर भी कोई प्रसाद और माला ले आता है तो उसे यहां एक मेज पर रखवा दिया जाता है। पहले यहां प्रतिदिन 9.40 और गुरुवार को 10.40 पर आरती का समय था, लेकिन अब आरती भी 9 बजे कर ली जाती है।

मंशापूर्ण हनुमान मंदिर, पड़ाव: भक्त दर्शन कर लें, परिक्रमा, प्रसाद और फूल-माला पर प्रतिबंध
यहां मंगलवार और शनिवार को भक्तों की भीड़ रहती है। यहां पर भक्तों को हनुमान जी के दर्शन को करने दिए जा रहे हैं लेकिन परिक्रमा मार्ग तक जाने की अनुमति नहीं है। प्रसाद और फूल चढ़ाने पर भी प्रतिबंध है हालांकि जो श्रद्धालु प्रसाद लेकर पहुंच जाते हैं उनके लिए प्रसाद रखने की जगह निर्धारित कर दी गई है। मंदिर में घंटा बजाने पर भी प्रतिबंध लगाया गया है।

अचलेश्वर मंदिर: बाहर से ही हो पा रहे हैं दर्शन
शहर के प्रमुख अचलेश्वर मंदिर पर भी भक्तों और भगवान के बीच की दूरी अभी भी बरकरार है। भक्त मंदिर के बाहर से ही भगवान के दर्शन कर पा रहे हैं। पहले यहां के गर्भगृह तक भक्तों की पहुंच थी, लेकिन अब भक्तों पर प्रतिबंध लगाया गया है। कई लाेगों के एक साथ शिवलिंग को स्पर्श करने से संक्रमण का खतरा है। शिवलिंग सेनिटाइजर से मुक्त रहे इसलिए भी भक्तों को दूर रखा जा रहा है। पहले यहां हर सोमवार को अभिषेक किए जाते थे। विशेष दिन इसके लिए वेटिंग भी रहती थी।

अभी गर्भगृह श्रद्धालुओं के लिए प्रतिबंधित
कोरोना संक्रमण की गाइडलाइन के चलते अभी भक्तों के दर्शन करने की बाहर से ही व्यवस्था की गई है। श्रद्धालुओं के लिए गर्भगृह प्रतिबंधित किया गया है।
-हरीदास अग्रवाल, अध्यक्ष, श्री अचलेश्वर सार्वजनिक न्यास

प्रसाद एवं फूलमाला चढ़ाना प्रतिबंधित है
मंदिर के परिक्रमा मार्ग को भक्तों के लिए बंद किया गया है। प्रसाद, फूलमालाएं चढ़ाना भी प्रतिबंधित है। कोरोना संक्रमण से बचने के लिए बनाई गई गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है। -पं. गोपाल दुबे, मुख्य पुजारी, मंशापूर्ण हनुमान मंदिर, पड़ाव

गाइन लाइन का किया जा रहा है पालन
कोरोना संक्रमण से बचने के लिए बनाई गई गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है। प्रसाद और फूलमाला चढ़ाने पर भी प्रतिबंध लगाया गया है।
-योगेश शुक्ला, सांई मंदिर

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय पूर्णतः आपके पक्ष में है। वर्तमान में की गई मेहनत का पूरा फल मिलेगा। साथ ही आप अपने अंदर अद्भुत आत्मविश्वास और आत्म बल महसूस करेंगे। शांति की चाह में किसी धार्मिक स्थल में भी समय व्यतीत ह...

और पढ़ें