पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुंबई और मध्यप्रदेश में दो अलग-अलग नियम:मुंबई में गर्भवती महिलाओं को वैक्सीन, प्रदेश में इंतजार

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना से बचाव के लिए मुंबई और मध्यप्रदेश में दो अलग-अलग नियम हैं। मुंबई में गर्भवती महिलाओं को टीका लगवाने के लिए सहमति पत्र पर हस्ताक्षर करने के साथ स्त्री रोग विशेषज्ञ से प्रमाण-पत्र लाना होता है, जबकि प्रदेश में काेराेना की पहली और दूसरी लहर में 752 गर्भवती संक्रमित हुईं थीं। इनमें से 9 की जान चली गई। इसके बाद भी प्रदेश में गर्भवती महिलाओं को वैक्सीन लगाने का निर्णय नहीं लिया गया है।

गर्भवती को टीका लगने से बच्चे पर नहीं पड़ेगा कोई असर

जीआरएमसी की पूर्व डीन डॉ. वीणा अग्रवाल के मुताबिक इंटरनेशनल सोसायटी ऑफ गायनाकलोजी ने गर्भवती महिलाओं को टीके लगाने की स्वीकृति दी है। इनके लिए कोरोना घातक है। इसलिए गर्भवती को टीका लगना चाहिए। इससेे गर्भ में पल रहे बच्चे पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। स्त्री रोग विशेषज्ञों की राष्ट्रीय स्तर की सोसायटी फॉक्सी ने भी इसके लिए भारत सरकार को पत्र लिखा है।

मुंबई में अगर गर्भवती महिलाओं को कोरोना से बचाव का टीका लग रहा है तो इस मामले में बात कर जल्द ही निर्णय लिया जाएगा।
-डॉ. प्रभुराम चौधरी, स्वास्थ्य मंत्री

खबरें और भी हैं...