• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Weather Changed As Soon As The Effect Of Western Disturbance Was Over, Night Temperature Came Down To 12%

लो आ गई सर्दी:पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म होते ही बदला मौसम, रात का पारा 12% पर आया

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दीपावली पर्व के बीतते ही सर्दी असर दिखाने लगी है। शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात ग्वालियर में न्यूनतम तापमान 12 डिग्री दर्ज किया गया। अभी तक यह 13 से 14 डिग्री के बीच चल रहा था। नवंबर में अब तक का यह सबसे कम तापमान है। मौसम वैज्ञानिकों का तर्क है कि पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म हो चुका है। पारा 12 डिग्री पर आते ही सर्दी की शुरूआत हो गई है। आने वाले दिनों में रात का तापमान और नीचे खिसकेगा। इससे सर्दी बढ़ेगी। इसकी वजह से प्रदेश के चार महानगरों में ग्वालियर में सबसे ठंडी रात महसूस की गई। दिन में भी धुंध सी रही। इससे शाम से ही ठंड का अहसास होने लगा।

मौसम विभाग के मुताबिक दिन का अधिकतम तापमान 30.3 डिग्री रिकार्ड हुआ। सामान्य से 2.4 डिग्री कम रहा तापमान : सर्दी एकदम बढ़ने के कारण न्यूनतम तापमान सामान्य से 2.4 डिग्री कम रहा। दिन का तापमान भी सामान्य से कम आंका गया। यह 1.6 डिग्री कम रहा। इस वजह से रात और दिन में ठंडक महसूस होती रही।

पिछले साल 11.7 डिग्री पर था

4 नवंबर 2020 में न्यूनतम तापमान 11.7 डिग्री पर आ गया था। हालांकि इससे पहले साल 2013 तक 12o तक न्यूनतम तापमान नहीं पहुंचा। साल 2013 में 12.7 डिग्री तापमान रहा था।

आगे क्या- अभी और नीचे जाएगा तापमान
सर्दी की शुरुआत हो चुकी है। न्यूनतम पारा 12 डिग्री के पहुंचने के बाद थमने के आसार नहीं है। अभी यह और नीचे जाएगा। क्योंकि अब पश्चिमी विक्षोभ भी नहीं है। -वेद प्रकाश सिंह, वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक

खबरें और भी हैं...