• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Went By Flight To Visit Andaman And Nicobar Islands, Air Tickets Of Rs 46 Thousand Were Lying From The Travel Agency For 2.44 Lakhs, Bills Imposed By The Department, The Answer Received Is Fake

BSF जवान से हवाई यात्रा के नाम पर ठगी:अंडमान-निकोबार द्वीप फ्लाइट से गए थे, 46 हजार रुपए के टिकट के चुकाए 2.44 लाख रुपए; ऑफिस में लगाए बिल तो पता चला फर्जी हैं

ग्वालियर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो

ग्वालियर के टेकनपुर BSF अकादमी के जवान को हवाई यात्रा कराकर दो टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसी ने करीब 2 लाख रुपए की चपत लगा दी। जवान को BSF से वर्ष 2018 में अंडमान-निकोबार द्वीप पर परिवार समेत घूमने का ऑफर मिला था। इसी बीच, आशी टूर एंड ट्रैवल्स, सत्कार ट्रैवल्स की कर्मचारी ने जवान से संपर्क किया। उसे टूर पैकेज दिया। ग्वालियर से हावड़ा तक AC ट्रेन टिकट और उसके बाद हावड़ा से निकोबार के पोर्ट ब्लेयर तक हवाई यात्रा के टिकट बनवाए। ट्रेन और फ्लाइट के टिकट का बिल 2.44 लाख रुपए ले लिए।

यात्रा से लौटकर जवान ने BSF में टिकट का पैसे वापसी के लिए ऑफिस में क्लेम किया, तब ठगी का खुलासा हुआ। जानकारी जुटाने पर पता लगा कि टिकट की कुल वैल्यू 46 हजार रुपए है, जबकि उससे 2.44 लाख रुपए वसूल किए गए थे। ठगी का अहसास होने पर जवान ने मामले की शिकायत पुलिस में की। बिलौआ थाना पुलिस ने जांच के धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।

बिलौआ BSF अकादमी टेकनपुर, रंधावापुरम TCP निवासी बलराम शर्मा पुत्र विद्याराम शर्मा BSF में जवान है। जवान को नवंबर 2018 में डिपार्टमेंट ने 2 वर्षीय वारंट ब्लाक नियम के तहत परिवार समेत अंडमान-निकोबार यात्रा के लिए स्वीकृति व छुट्‌टी सेंशन की थी। अंडमान-निकोबार यात्रा को लेकर जवान और उसका परिवार माता-पिता, पत्नी व दो बेटियों में काफी उत्साह था। पहली बार फ्लाइट से यात्रा करना था। अभी वह कहीं से टिकट बुक कराते उससे पहले ही आशी टूर एंड ट्रैवल्स की कर्मचारी निशा ने उससे संपर्क किया। सभी के ग्वालियर से हावड़ा तक ट्रेन के टिकट कराने और हावड़ा से पोर्ट ब्लेयर तक हवाई जहाज के टिकट कराकर देने का आश्वासन दिया। इसके बाद उनसे सभी टिकटों के 2 लाख 44 हजार 340 रुपए चार बार में लिए। सत्कार ट्रैवल्स एजेंसी हिसार हरियाणा के नाम से टिकट उपलब्ध कराए गए।

घूमकर लौटे, पेमेंट के लिए टिकट लगाए, तो ठगी का पता लगा
यात्रा करने के बाद जब बलराम शर्मा वापस आए। टिकट के क्लेम पैमेंट के लिए BSF अकादमी में टिकट लगाए, तो वहां से पता लगा कि यह टिकट फर्जी हैं। इतना ही नहीं BSF ने उनका भुगतान रोक दिया ,बल्कि पुराना जो भी पैसा दिया था, उसे वापस मांगने लगे। फर्जी बिल लगाने पर विभागीय जांच की बात शुरू हो गई। इस पर जवान घबरा गया। पहले दोनों ट्रैवल्स एजेंसियों से बात की। ट्रैवल्स एजेंसी की कर्मचारी निशा और संचालक सुरेश शर्मा से बात की, पर संतोष जनक जवाब नहीं मिला।

स्पास जैट से पता लगा टिकट तो सिर्फ 46 हजार रुपए के
टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसियों से जब संतोष जनक जवाब नहीं मिला, तो जवान ने स्पास जैट एयर सर्विस के दफ्तर जाकर टिकट को दिखाया। उनको बताया गया कि टिकट सही हैं। जितने एयर टिकट हैं उनका कुल किराया 46 हजार रुपए के लगभग है। इसमें कूट रचना कर किराया ज्यादा दिखाकर 2.44 लाख रुपए ठगे गए हैं। इसके बाद जवान ने दोनों ट्रैवल्स एजेंसी को लीगल नोटिस भिजवाया, लेकिन उसका जवाब नहीं मिला।

तंग आकर कुछ समय पहले मामले की शिकायत बिलौआ थाना में की गई। इसके बाद पुलिस ने आवेदन की जांच के बाद दोनों ट्रैवल्स एजेंसी आशी टूर एंड ट्रैवल्स की निशा व सत्कार ट्रैवल्स एजेंसी का संचालक सुरेश शर्मा के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस का कहना
इस मामले में एएसपी देहात जयराज कुबेर ने बताया कि ठगी के शिकार जवान की शिकायत पर दो ट्रैवल्स एजेंसियों के संचालक के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है। जल्द ही आरोपियों को पकड़ लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...