पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मानसून रुका:पश्चिमी हवा ने बंगाल की खाड़ी में सिस्टम बनने से राेका, ग्वालियर में उमस भरी गर्मी से बेचैन

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मानसून ग्वालियर में कब तक दस्तक देगा, इसका सही पूर्वानुमान मौसम विभाग भी नहीं कर पा रहा है। मौसम विभाग का कहना है कि बंगाल की खाड़ी में 19 जून को जो सिस्टम बनना था, वह अब नहीं बन पाएगा। इसी सिस्टम के असर से दक्षिणी-पश्चिमी मानसून आगे बढ़ता, लेकिन तेज गति से आ रही पश्चिमी हवा ने बंगाल की खाड़ी में मानसून सिस्टम बनने से रोक दिया है।

अरब सागर ब्रांच में भी यही स्थिति है। इस समय ग्वालियर से होकर ट्रफ लाइन पूर्वी मप्र से होकर वाराणसी तक जा रही है। गुना और अशोकनगर ट्रफ लाइन के निचले हिस्से में है। इससे यहां बारिश के आसार हैं। यदि दो दिन तक बारिश होती है तो मौसम विभाग इंदौर, गुना और अशाेकनगर तक मानसून आने की घाेषणा कर सकता है, लेकिन ग्वालियर में मानसून के दस्तक देने को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। 25 तक ग्वालियर में उमस भरी गर्मी बेचैन करेगी।

दोपहर में गर्मी, शाम को छाए बादल

गुरुवार को दोपहर शहरवासी उमस भरी गर्मी से बेहाल रहे। हालांकि शाम 6 बजे के बाद हल्के बादल छा गए। पिछले दिन की तुलना में अधिकतम तापमान 1.7 डिग्री बढ़त के साथ 39.5 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 1.5 डिग्री कम रहा। न्यूनतम तापमान 0.8 डिग्री बढ़त के साथ 26.3 डिग्री दर्ज किया गया।

खबरें और भी हैं...