पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • When I Am A Minister, The Doctor Did Not Come For 10 Minutes, Imagine What Would Happen To The Common People, The Doctor In OPD, The Stretcher Was Not Found In Casualty

ऊर्जा मंत्री हुए आग-बबूला:बोले- मंत्री हूं तब डॉक्टर 10 मिनट तक नहीं आया, सोचो आम आदमी का क्या हाल होता होगा

ग्वालियर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ग्वालियर में सबसे बड़े अस्पताल जयारोग्य की अव्यवस्था एक बार फिर उजागर हो गई। इस बार तो अव्यवस्था ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के सामने उजागर हो गई। OPD में मंत्री तोमर को डॉक्टर के लिए 10 मिनट इंतजार करना पड़ा तो वह आगबबूला हो उठे। बोले- जब मैं मंत्री हूं तो यह हाल है। सोचो आम लोग कितना परेशान होते होंगे। इसके बाद कैजुअल्टी पहुंचे मंत्री ने पूछा, मानो मैं पेशेंट हूं, हालत गंभीर है और सुपर स्पेशियलिटी में भर्ती कराना है तो कैसे ले जाओगे? इस पर कर्मचारी स्ट्रेचर ढूंढने लगे, लेकिन वह नहीं मिला। मंत्री को कोविड वार्ड में डॉक्टर नहीं मिले। इस पर भी उन्होंने नाराजगी जताई। इस मामले में उन्होंने संभागीय आयुक्त को तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए।

प्रदेश के ऊर्जा मंत्री भोपाल एक्सप्रेस से शुक्रवार तड़के 4 बजे भोपाल से ग्वालियर पहुंचे थे। ग्वालियर स्टेशन पर उतरने के साथ ही वह सीधे घर न जाते हुए JAH (जयारोग्य अस्पताल) जा पहुंचे। यहां उन्होंने JAH के OPD, सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल का निरीक्षण किया। सभी जगह कई कमियां मिली। OPD में उन्हें डॉक्टर का इंतजार करना पड़ा। उन्होंने नाराज होते हुए कहा कि जब मंत्री को इंतजार करना पड़ता है तो आम लोग किस पीड़ा से गुजरते होंगे, मैं आज समझ गया हूं।

मंत्री ने कोविड वार्ड में भी किया निरीक्षण, डॉक्टर से लेकर वार्ड ब्वॉय तक गायब थे।
मंत्री ने कोविड वार्ड में भी किया निरीक्षण, डॉक्टर से लेकर वार्ड ब्वॉय तक गायब थे।

कोविड वार्ड में नहीं था डॉक्टर, पूछा तो स्टाफ ने बताया- फ्रेश होने गए हैं

ऊर्जा मंत्री ने PPE किट पहनकर कोविड वार्ड का निरीक्षण किया। यहां देखा तो पता लगा जिस डॉक्टर की ड्यूटी थी वह गायब था। वहां के स्टाफ ने बताया कि डॉक्टर साहब ड्यूटी पर हैं, लेकिन फ्रेश होने कैंपस तक गए हैं। एक वार्ड ब्वॉय गायब था। यहां पूछने पर पता लगा कि एक सफाई कर्मचारी, दो वार्ड ब्वॉय की ड्यूटी थी। पर उनमें से एक वार्ड ब्वॉय नदारद था।

कोल्ड OPD के बाहर ऊर्जा मंत्री डॉक्टर का इंतजार करते रहे।
कोल्ड OPD के बाहर ऊर्जा मंत्री डॉक्टर का इंतजार करते रहे।

कैजुअल्टी में नहीं मिला स्ट्रेचर

ऊर्जा मंत्री तोमर कैजुअल्टी और ट्रॉमा सेंटर पहुंचे। कैजुल्टी में स्टाफ अलर्ट मिला। मंत्री तोमर ने पूछा कि मान लो मेरी हालत सीरियस है यहां से मुझे सुपर स्पेशियलिटी में भर्ती कराना है। तो कैसे भेजोगे, स्ट्रेचर कहां है? कैजुअल्टी में स्ट्रेचर नहीं थी। बाहर एंबुलेंस खड़ी होने की बात कही, लेकिन वह भी नहीं थी। इस भी वह गुस्सा हो गए।

खबरें और भी हैं...