लवमैरिज बनी जान पर खतरा...:प्रेम विवाह कर कोर्ट पहुंचे तो पुलिस ने दरवाजे से घसीटकर ले जाने का किया प्रयास

ग्वालियर2 महीने पहले
हाईकोर्ट परिसर के बाहर हंगामा और प्रेमी को पकड़कर ले जाने का प्रयास करती पुलिस - Dainik Bhaskar
हाईकोर्ट परिसर के बाहर हंगामा और प्रेमी को पकड़कर ले जाने का प्रयास करती पुलिस
  • कोर्ट परिसर में घुसे दो पुलिसकर्मी युवक को बाहर लाए, की मारपीट

ग्वालियर में हाई कोर्ट परिसर के बाहर हाई वोल्टेज ड्रामा हुआ। लव मैरिज कर सुरक्षा मांगने पहुंचे युवक को दो पुलिसवाले मिलने के नाम पर कोर्ट परिसर से बाहर लाए और सड़क पर उसे घसीटकर जबरन गाड़ी में डालकर ले जाने लगे। पर युवक भी सड़क पर फेल गया और संघर्ष करता रहा। इसी समय वहां उसका वकील पहुंच गया और भीड़ लग गई। इस पर युवक पुलिस की पकड़कर से छूटकर वापस हाईकोर्ट परिसर में अंदर भाग गया। हाईकोर्ट से वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना देकर प्रेमी जोड़े को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है। पर युवक को सड़क पर पुलिस वालों द्वारा घसीटकर ले जाने और उसके खुद को बचाने का VIDEO अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।
यह है पूरा मामला
ग्वालियर के भितरवार निवासी निशांत भुल्लर ने ग्वालियर के गोला का मंदिर रहने वाली गौरी से प्रेम विवाह किया है। दोनों कुछ दिन पहले घर से भागे और शादी की है। हाई कोर्ट में निशांत व गौरी की याचिका पर शुक्रवार शाम को सुनवाई हुई। दोनों ने बताया कि उन्होंने आगरा स्थित आर्य समाज मंदिर और गोविंदपुरी में 27 अप्रैल को शादी की है और गौरी के भाई कौशलेंद्र सिंह से उन्हें खतरा है। कोर्ट ने दोनों की शादी की वैधता पर कोई टिप्पणी ना करते हुए स्पष्ट किया कि यदि दोनों सुरक्षा प्रदान करने के लिए आवेदन दें तो पुलिस अधीक्षक उस पर नियमानुसार कार्रवाई करें। इस मामले की सुनवाई के बाद युवक कोर्ट परिसर में खड़े होकर बात कर रहा था। तभी शाम के समय दो पुलिसकर्मी निशांत के पास आए और कहा कि साहब उसे बाहर बुला रहे हैं। जैसे ही वह बाहर पहुंचा, वहां मौजूद पुलिसकर्मी उसके साथ झूमाझटकी करने लग गए। इतना ही नहीं उसे जबरन पुलिस के वाहन में डालकर ले जाने का प्रयास किया।
सड़क पर लेट गया युवक और खुद को छुड़ाकर अंदर भागा
जब पुलिस युवक को पकड़कर अपने वाहन में बैठाकर ले जा रही थी तो वह विरोध कर रहा था। करीब 8 से 10 पुलिस वाले उसे पकड़कर सड़क पर खींच रहे थे। यहां हंगामा देख वहां मौजूद लोगों की भीड़ लग गई। निशांत के वकील अनिल झा भी वहां पहुंच गए। जब उन्होंने विरोध किया तो पुलिस के तेवर कुछ ढीले हुए और इसी बीच निशांत उनकी पकड़कर से छूटकर अंदर कोर्ट परिसर में भाग गया। इसके बाद वरिष्ठ अफसरो को मामले से अवगत कराया गया और प्रेमी जोड़े को उनकी मनचाही सुरक्षित जगह पर पहुंचाया गया।
पुलिस का कहना
एएसपी राजेश दंडोतिया का कहना है कि युवती बालिग हैं। लेकिन गोला का मंदिर थाने में उसकी गुमशुदगी दर्ज है। सूचना मिलने पर पुलिस उसे तलाशने पहुंची थी। कोर्ट के बाहर जब पुलिस ने उसे रोकना चाहा तब उसके साथी युवक के साथ कुछ लोगों ने झूमाझटकी की। मामले की जांच की जा रही है।