पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गांव में कोरोना:सख्ती और अनुशासन से 228 गांवों के लाेगाें ने काेराेना काे कर दिया विदा

ग्वालियर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 224 गांवों में दूसरी लहर में एक भी मरीज नहीं मिला

दूसरी लहर के चपेट में आने के बाद ग्वालियर जिले के गांव अब काेराेना संक्रमण से बाहर निकलने लगे हैं। मार्च से अब तक 141 ग्राम पंचायत 303 गांव में कोरोना संक्रमण पहुंचा, जिनमें से 228 गांव अब संक्रमण से पूरी तरह मुक्त हो गए हैं। इन गांव में पिछले दो सप्ताह से कोई नया संक्रमित मरीज सामने नहीं आया है। वहीं 96 ग्राम पंचायत के 224 गांव ऐसे भी रहे, जहां दूसरी लहर में एक भी मरीज नहीं मिला। जिले की 255 ग्राम पंचायतों में 527 गांव हैं, जिनमें लगभग 6 लाख 60 हजार लोगों की आबादी है।

मरीज मिलने पर बढ़ी चिंता, 20-25 दिन में सुधार दिए हालात

उटीला: मार्च-अप्रैल में यहां 12 लोग संक्रमित निकले, लेकिन मई में कोई नया केस सामने नहीं आया। ग्रामीणों ने बाहर से आने वाले लोगों पर रोक लगा दी थी और जो लोग आए, उन्हें क्वारेंटाइन सेंटर में रखा।
बेहट: यह गांव पिछली बार (27 मरीज मिले थे) की तरह इस बार (10 मरीज मिले) भी कोरोना की चपेट में आने लगा था। जिला पंचायत एवं ग्रामीणों ने रास्तों को बांस-बल्ली बांधकर कंटेनमेंट जोन बनाया और आवाजाही पर पाबंदी लगाई।
ऐसे लगाया अंकुश

  • ग्रामीणों ने पंचायत एवं स्कूल भवन में क्वारेंटाइन सेंटर बनाए। जिनमें बाहर से आने वाले लोगों को क्वारेंटाइन किया गया।
  • क्वारेंटाइन अवधि में तबीयत बिगड़ती तो संबंधित की जांच कराई जाती और संक्रमित होने पर अस्पताल भेजा गया।
  • गांव में लोग सुरक्षित रह सकें, इसलिए वैक्सीनेशन पर भी जोर रहा। 45 वर्ष से अधिक आयु वाले लोगों में अब तक लगभग 58% वैक्सीनेशन हो चुका है। युवाओं में वैक्सीनेशन धीमा है।
खबरें और भी हैं...