• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Witness Returned From Indore, Attackers Surrounded And Opened Fire, Escaped Life, Footage Went Viral

कातिलाना हमले के गवाह पर फायरिंग:दोस्त का बर्थ डे मनाने इंदौर से ग्वालियर आया था, 4 युवकों ने घेरकर चलाईं गोलियां, भागकर बचाई जान

ग्वालियरएक वर्ष पहले
बोलेरो से आए थे हमलावर। फुटेज में हिमांशु और उसके साथी अंदर भागते हुए दिख रहे हैं।
  • गोला का मंदिर पटरी रोड की घटना, CCTV कैमरे में रिकॉर्ड हुई वारदात
  • पुलिस ने हमलावरों पर मामला दर्जकर जांच शुरू की

ग्वालियर में मंगलवार शाम कुछ बदमाशों ने एक युवक पर फायरिंग कर दी। वारदात गोला का मंदिर पटरी रोड पर हुई। युवक एक दिन पहले ही इंदौर से ग्वालियर पहुंचा था। वह दोस्त पर हुए कातिलाना हमले का मुख्य गवाह है। घटना के दौरान युवक के साथ उसके साथी भी थे। बदमाशों ने सरेराह कट्‌टे और पिस्टल से उन पर फायर झोंक दिया, लेकिन सभी किसी तरह भागकर अपनी जान बचाने में सफल रहे। ये पूरी घटना CCTV कैमरे में रिकॉर्ड हो गई। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

हाथ में कट्‌टा लिए हमलावर हिमांशु और उसके साथियों को तलाशते हुए।
हाथ में कट्‌टा लिए हमलावर हिमांशु और उसके साथियों को तलाशते हुए।

गोला का मंदिर थाना क्षेत्र के कुंज विहार कॉलोनी फेस-2 निवासी हिमांशु शर्मा पुत्र अनिल शर्मा छात्र है। अभी वह इंदौर में रहकर पढ़ाई कर रहा है। एक दिन पहले ही वह अपने एक दोस्त का बर्थ डे मनाने के लिए इंदौर से ग्वालियर पहुंचा था। मंगलवार शाम हिमांशु, शिवांस भदौरिया और सुखबीर कौरव तीनों घूमने निकले थे। भिंड रोड पर पटरी रोड इलाके में सुखबीर के सिर में दर्द होने पर वे तोमर मेडिकल पर पहुंचे। तभी एक सफेद बोलेरो कार में सवार होकर अमित कौरव, मनोज राजावत, अर्जुन गुर्जर और उनके साथी वहां आ धमके। अमित कौरव व मनोज राजावत ने उन पर कट्टों से फायर किए। बचने के लिए हिमांशु अपने दोस्तों के साथ मेडिकल के पास मार्केट में घुस गया। इस बीच अर्जुन गुर्जर ने भी रिवाल्वर से फायर कर दिया।

भागकर छुपते नहीं तो मार देते हमलावर

फायरिंग होते देख हिमांशु और उसके साथी मल्टी में अंदर की तरफ भागे। हमलावर भी उनके पीछे-पीछे भागे और मल्टी के अंदर उन्हें खोजने लगे। कुछ देर तलाश के बाद हमलावर वहां से भाग गए। गोलीबारी की सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने हमलावरों पर मामला दर्ज किया है। हिमांशु का कहना है कि वह भागकर जान नहीं बचाते तो हमलावर उनकी हत्या कर देते।

सालभर पहले दोस्त को मारी थी गोली

हिमांशु ने पुलिस को बताया कि हमलावरों ने एक साल पहले यहीं पटरी रोड पर उसके दोस्त को गोली मारी थी। उस समय वह सैलून पर था। दोस्त पर कातिलाना हमले के मामले में वह गवाह है। हमलावर लगातार गवाही बदलने के लिए उसे धमका रहे थे। इस कारण वह ग्वालियर से इंदौर चला गया था।

फुटेज में बोलेराे में सवार होकर आते दिखे चार हमलावर

पूरी घटना तोमर मेडिकल के पास बिल्डिंग में लगे CCTV कैमरे में रिकॉर्ड हो गई है। बुधवार सुबह से यह फुटेज वायरल हो रहा है। इसमें बोलेरो में सवार होकर चार युवक आते दिख रहे हैं। उनको देखकर हिमांशु और उसके दोस्त अंदर भागते दिख रहे हैं। हमलावर गोलियां चलाते भी नजर आ रहे हैं। इसी फुटेज के आधार पर पुलिस हमलावरों की तलाश कर रही है।

खबरें और भी हैं...