पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गेहूं की खरीदी:किसान बोले- 3 दिन में भी नहीं आया नंबर, व्यापारियों का तौला जा रहा गेहूं

पोरसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गेहूूं बेचने के लिए हम लोगों को मंडी प्रांगण में खड़े हुए दो से तीन दिन का समय बीत गया है। बावजूद इसके तौल का नंबर नहीं आया है। इसके पीछे वजह यह है कि मंडी में खरीद कार्य में लगे कर्मचारी व्यापारियों का गेहूं तुलवा रहे हैं, जबकि तौल न होने से किसान परेशान हैं। यह पीड़ा शनिवार को कृषि उपज मंडी में समर्थन मूल्य पर गेंहू बेचने आए किसानों ने दैनिक भास्कर से की।

किर्रांच पंचायत के दुर्गादास की गढ़ी से आए किसान शंकर सिंह ने बताया कि वे अपना गेहूं ट्रैक्टर-ट्रॉली में भरकर 27 मई को मंडी प्रांगण में आए थे। लेकिन 29 मई की दोपहर तक नंबर नहीं आने से गेहूं नहीं तौला गया। जबकि वह 800 रूपए प्रतिदिन के हिसाब से भाड़े का ट्रैक्टर लाए हैं। इसी तरह धर्मगढ़ गांव से आए राजेंद्र प्रसाद ने बताया कि 28 मई को सुबह गेहूं लेकर मंडी आ गए थे। लेकिन शनिवार को भी तौल के लिए नंबर नहीं आया। मंडी प्रांगण में मौजूद किसानों के मुताबिक यह गड़बड़ी मंडी में तैनात कर्मचारी कर रहे हैं। क्योंकि वह सुविधा शुल्क लेकर व्यापारियों का गेहूं पहले तौल रहे हैं।
पीड़ित किसान मुझसे संपर्क कर सकते हैं
^तौल के लिए एक दिन से अधिक समय नहीं लग रहा है। दो से तीन मंडी में खड़े रहने का किसान गलत आरोप लगा रहे हैं। अगर ऐसा कोई किसान है तो मुझसे तत्काल संपर्क करे।
राजकुमार नागौरिया, तहसीलदार पोरसा

खबरें और भी हैं...