पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विभाग:14 वर्ष बाद भी चालू नहीं हो पाया रघुनाथपुर का नलकूप

रघुनाथपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अगस्त 2007 में नाबार्ड फेज दो के अंतर्गत लगभग छह लाख का राजकीय नलकूप का पूरा ढांचा खड़ा हुआ था, पर 14 वर्षों बाद भी खेतों तक पानी नहीं पहुंच पाया। ऊर्जा मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव ने इसका शिलान्यास किया था। इसके बाद एक कमरे के भवन में मोटर तथा पंप लगाकर इसको किसानों के खेत तक पानी पहुंचाने के लिए व्यवस्थित किया गया। परंतु वर्तमान में यह अपनी दुर्दशा के लिए मशहूर हो चुका है।

कमरे के अंदर का पक्का टूटकर गड्ढे में तब्दील हो गया है, मोटर का पता नहीं। विद्युत कनेक्शन के जुड़ाव के लिए समीप में ट्रांसफाॅर्मर लगा दिया गया है। मीटर भी लगा दिया गया है। गांव के किसान बलिंदर भगत नवल राय ददन कुमार सहित अन्य का कहना है कि अगर यह नलकूप सही रूप से चालू रहता तो हम लोगों को पटवन की समस्या का निदान हो जाता है। महंगे डीजल खरीद कर दूसरे के पंपसेट पर निर्भर रहना पड़ता है।

समय से खेती बारी भी सिंचित नहीं हो पाती। इस संबंध में रघुनाथपुर प्रभाग के सहायक इंजीनियर मृत्युंतय कुमार का कहना है कि निखती खुर्द गांव के लिए राजकीय नलकूप हेतु कोई फंड जारी नहीं हो पाया है। इसके लिए जल्द ही विभाग को लिखा जाएगा।

खबरें और भी हैं...