पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

लेटलतीफी:श्योपुर जाने ग्रामीणों को 60 किमी दूरी तय करने लगाना पड़ रहा 100 किमी का फेरा

रघुनाथपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • टर्राकलांं से घूघस तक नहर किनारे की सड़क कच्ची, दो साल पहले स्वीकृत होने के बाद भी काम शुरू नहीं
  • अधिकारी बोले- टेंडर कराकर जल्द शुरू कराएंगे काम

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत बनाई जाने वाली कस्बे की तीन गावों की सड़क को स्वीकृत होने के बावजूद भी दो साल बाद भी निर्माण शुरू नहीं हो सका है। सड़कों का लेटलतीफी का शिकार होने के कारण तीन गांव के पांच हजार लोगों को कच्चे रास्तों से सफर करना पड़ रहा है। इन कच्चे रास्तों पर आए दिन वाहनों के गिरने से लोग घायल भी हो रहे हैं।

ग्रामीणों ने सड़क निर्माण कार्य शुरू कराए जाने की मांग की है। टर्राकलां से घूघस तक नहर किनारे की सड़क कच्ची है। जिससे ग्रामीण श्योपुर नहीं पहुंच पा रहे हैं। श्योपुर जाने के लिए ग्रामीणों को गोरस तक फेरा लगाकर जाना पड़ रहा है। नीमच से अरोदर्री जाने वाले रास्ते की हालात भी कुछ ऐसी ही है। निर्माण कार्य शुरू नहीं होने से सड़कों सिर्फ गड्ढे दिखाई देते हैं। जिनमें पानी भरा हुआ है।

इससे यहां आने वाले किसी नए व्यक्ति को इस सड़क के गड्ढों का अनुमान नहीं होता है तो वे इन गड्ढों में गिरकर फंस जाते हैं। जिससे लोग कई लोग घायल भी हो चुके हैं। ग्रामीणों का कहना है कि बारिश के दिनों में तो कई दिनों तक तो इन रास्तों पर वाहन चल तक नहीं पाते हैं। पगडंडी से बदतर इन रास्तों पर से गुजरना ग्रामीणों के लिए किसी यातना के सामान है। रघुनाथपुर से हीरापुुरा और हीरापुरा से नीमच तक सड़क निर्माण का काम भी शुरू नहीं कराया गया है।

नीमच से अरोदर्री जाने वाला मार्ग जर्जर, लंबी दूरी तय कर ढोढर जाने को मजबूर ग्रामीण
टर्राकलां से घूघस होते हुए नहर वाले मार्ग से श्योपुर जाने का रास्ता मात्र 60 किमी का है, लेकिन रास्ता पूरी तरह से जर्जर होने से ग्रामीण इस रास्ते का उपयोग नहीं करते हैं। उन्हें गोरस होते हुए करीब 100 किमी का चक्कर काट कर श्योपुर जाना पड़ रहा है। जिससे रास्ता तो लंबा है ही साथ ही समय भी बहुत लग जाता है। जिससे ग्रामीण परेशान होते हैं।

वहीं नीमच से अरोदर्री की ओर जाने वाला मार्ग भी जर्जर पड़ा हुआ है। यहां से ग्रामीणों को रघुनाथपुर का बाजार पास पड़ता है लेकिन इस रास्ते के हालात और भी खराब हैं। ग्रामीण लंबी दूरी तय करते हुए ढोढर के बाजार में खरीददारी करने जा रहे हैं।

अर्रोदरी की सड़क का करा रहे सर्वे
पीएमजीएसवाई के द्वारा सिर्फ रघुनाथपुर से लेकर अर्रोदरी तक सड़क का काम स्वीकृत किया गया है। लेकिन इस रास्ते पर निर्माण कार्य कराने के लिए अभी टेंडर नहीं किए गए हैं। अधिकारियों की मानें तो इस रास्ते पर वर्तमान में सर्वे कराया जा रहा है। सर्वे कराने के बाद टेंडर जारी कर सड़क निर्माण का काम शुरू कराया जाएगा।

सात माह बाद ही उखड़ गई सड़क
प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत एमएस रोड से रघुनाथपुर तक करीब 7 किलोमीटर सड़क के पैचवर्क पर 3.25 लाख रुपए खर्च होने के बाद भी लोगों की राह आसान नहीं हुई है। ठेकेदार द्वारा बीते साल अक्टूबर माह में कराया गया पैचवर्क 4 महीने में ही उखड़ गया है। इसकी शिकायत पीएमजीवाय में भी की गई लेकिन सड़क पर दोबारा मेंटेनेंस का काम शुरू नहीं कराया गया है।

सर्वे देरी से हुआ, फिर लॉकडाउन हो गया
विभाग के द्वारा इन सड़कों पर सर्वे कराए जाने के निर्देश दिए गए थे। इसमें अधिकारियों ने सर्वे में ही 6 माह से अधिक समय लगा दिया और विभाग को रिपोर्ट प्रस्तुत की। इसके बाद टेंडर जारी करने से पूर्व ही लॉकडाउन लग गया था।

जल्द काम शुरू कराएंगे
^जहां जो काम स्वीकृत हो गए हैं उनकी टेंडर प्रक्रिया पूरी कर सड़क निर्माण कार्य शुरू कराए जाएंगे। वहीं ठेकेदारों को नोटिस देकर मेंटेनेंस शुरू कराया जाएगा।
एमएस कुशवाह, सहायक प्रबंधक, पीजीएसवाय विजयपुर

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपनी दिनचर्या को संतुलित तथा व्यवस्थित बनाकर रखें, जिससे अधिकतर काम समय पर पूरे होते जाएंगे। विद्यार्थियों तथा युवाओं को इंटरव्यू व करियर संबंधी परीक्षा में सफलता की पूरी संभावना है। इसलिए...

और पढ़ें