पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कैसे होगा विकास:5 में से 2 करोड़ खर्च, फिर भी खार नाला कच्चा, 72 लाख का बस स्टैंड भी अधूरा

सबलगढ़22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 20 करोड़ के 5 प्रोजेक्ट, जो पूरे हों तो बदल जाएगी कस्बे की तस्वीर
  • कई वार्डों में नहीं बिछी पेवर ब्लॉक, दलित बस्तियों का बजट दूसरे मद में किया खर्च

20 करोड़ 5 बड़े प्रोजेक्ट, जिनसे सबलगढ़ कस्बे की तस्वीर बदल जाती लेकिन राजनेताओं की अनदेखी व नगरपालिका व प्रशासनिक अफसरों की नाकामी से यह प्रोजेक्ट सालों बाद भी अधूरे बने हुए हैं। गंभीर बात यह है कि 20 करोड़ में से तकरीबन 15 करोड़ का भुगतान भी संबंधित निर्माण एजेंसियों को नगरपालिका कर चुकी है लेकिन कहीं ठेकेदारों का बचा हुआ भुगतान नहीं किया तो कहीं टेंडर होने के बाद ठेकेदार काम छोड़कर भाग गया।

ऐसी स्थिति में जनता से टैक्स के रूप में वसूला गया 15 करोड़ रुपया बर्बाद हो गया और अधूरे निर्माण कार्य से जनता को कोई सहूलियत तक नहीं मिली। हालत यह है कि कस्बे में जो प्रोजेक्ट अधूरे हैं, उनके लिए स्थानीय विधायक, सांसद व नगरपालिका प्रशासन, प्रशासनिक अधिकारियों ने भी ठेकेदारों को नोटिस जारी करने, शेष राशि के लिए शासन से बजट स्वीकृत कराने की दिशा में काम नहीं किया।

कच्चे शौचालय से फैल रही गंदगी, 500 परिवार हो रहे प्रभावित: कस्बे के सबसे व्यस्त मार्केट मंडी संतर नंबर एक, दो, तीन, चार के बीच गंदी गलियां हैं, जिनमें कच्चे शौचालय हैं। यहां कच्चे शौचालय खत्म कर सीवर टैंक बनाकर उनमें गंदगी खत्म हो और मार्केट लगाई जा सके, इसके लिए 2015 में तत्कालीन एसडीएम अजय कटेसरिया ने प्रयास किए। कुछ गली में एकाध टैंक बनाए भी गए लेकिन यह योजना भी ठंडे बस्ते में चली गई। हालात यह है कि इन गंदी गलियों से फैलने वाली गंदगी से 500 से अधिक परिवार प्रभावित हैं।

दलित बस्तियों के 90 लाख दूसरे मद में खर्च
कस्बे के बेनीपुरा स्थित वार्ड नंबर 12, 13 में अनुसूचित जाति वर्ग की बड़ी आबादी निवास करती है। इन बस्तियों के विकास के लिए शासन से पांच साल में 90 लाख रुपए से अधिक की राशि आई। लेकिन नगरपालिका अधिकारियों ने इन बस्तियों के लिए आई राशि दूसरे दरों में खर्च कर दी।

इन बस्तियों की हालत यह है कि यहां न तो पीने का स्वच्छ पानी है न साफ-सफाई के इंतजाम। इस संबंध में तहसीलदार व प्रभारी सीएमओ शुभ्रता त्रिपाठी ने बताया कि मैंने अभी-अभी चार्ज संभाला है। मुझे इन सभी प्रोजेक्ट के स्टेट्स की कोई जानकारी नहीं है। एसडीएम साहब ही इस बारे में बेहतर जानकारी दे सकते हैं।

इन बड़े प्रोजेक्ट में आधी राशि ठेकेदार ले गए
खार नाला: कस्बे में गंदगी का सबसे बड़ा केंद्र खार नाला है। पांच साल पहले इस नाले को पाटकर पक्की सड़क बनाकर सुंदर दुकानों का निर्माण करने के लिए 12 करोड़ का प्रोजेक्ट नपा ने तैयार कराया। बाद में इसे सिर्फ 5 करोड़ कर दिया, जिसमें पूरे नाले को पक्का करना था। ठेकेदार ने 5 साल पहले काम शुरू कर 60 प्रतिशत का पूरा कर दिया। 2 करोड़ का भुगतान भी हो गया। इसके बाद नपा ने भुगतान नहीं किया तो काम बंद कर ठेकेदार भाग गया।
बस स्टैंड: कस्बे के बस स्टैंड का सौंदर्यीकरण करने के लिए नगरपालिका ने 2 साल पहले 72 लाख रुपए का टेंडर जारी किया ताकि बस स्टैड से गंदगी खत्म हो और यात्रियों के लिए सुविधाएं विकसित की जा सके। ठेकेदार ने 30 प्रतिशत काम करके काम रोक दिया। ठेकेदार का कहना है कि जब नगरपालिका भुगतान ही नहीं करेगी तो मैं काम कैसे करूंगा।
3. पेवर ब्लॉक/चंबल कॉलोनी पार्क: कस्बे के महाराणा प्रताप नगर, पिपरघान रोड, रानी कुआ रोड, रामप्रसाद कॉलोनी सहित कई वार्डों में पेवर ब्लॉक बिछाने 3 करोड़ के टेंडर नपा ने 2 वर्ष पहले जारी किए। लेकिन आज तक इन गलियों में पेवर ब्लॉक बिछाने का काम शुरू नहीं हो सका।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें