श्योपुर के आवदा डैम को मरम्मत की दरकार:टेंडर की फाइल 2 माह से भोपाल में अटकी, यदि नहीं हुआ सुधार तो खेती और जीवन हो जाएगा अस्त-व्यस्त

श्योपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

श्योपुर जिले में अगस्त महीने में आई भीषण बाढ़ से 88 साल पुराने आवदा डैम की दीवार में रिसाव होने के साथ ही सपोर्टिंग दीवार को भी नुकसान हुआ था। सिंचाई विभाग ने बांध की मरम्मत के लिए करीब 16 करोड़ रुपए की डीपीआर तैयार कर शासन को भेजी थी।

शासन ने डीपीआर मंजूर भी कर दी थी। इसके बाद टेंडर जारी होने थे, लेकिन पिछले 2 महीने से टेंडर की फाइल भोपाल में अटकी है। मरम्मत का काम शुरू नहीं हो पा रहा है। बारिश से पहले यदि डैम की मरम्मत नहीं हुई और पिछले साल जैसी बारिश फिर से हुई तो इलाके के ग्रामीणों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

हर साल ओवरफ्लो हो जाता है डैम

जिले की पहचान आवदा डैम हर साल बारिश में ओवरफ्लो हो जाता है, जो महीनों तक चलता रहता है। पिछले साल अगस्त माह में आई बाढ़ के बाद किसी ने डैम के फूटने की अफवाह फैला दी थी, तो पूरे शहर में अफरा-तफरी मच गई। भविष्य में ऐसे हालत नहीं बने इसलिए जल संसाधन विभाग ने डैम की मरम्मत के लिए प्रस्ताव तैयार किया था।

डैम की मरम्मत में यह होगा काम

डैम की मरम्मत में डैम लीकेज को रोकने के लिए गुनाइटिंग वर्क किया जाएगा। दरारों को बंद किया जाएगा। डैम की डाउन साइड में पानी निस्तारण के लिए वेस्ट वियर के पास छोटा बांध बनाया जाएगा। जिससे डैम के ओवरफ्लो होने पर पानी उसमें छोड़ दिया जाए।

सिंधिया रियासत काल में बना था आवदा डैम

आवदा गांव के पास सीप नदी पर डैम का निर्माण सिंधिया रियासतकाल में हुआ था। जल संसाधन विभाग की मध्यम सिंचाई परियोजना का जिले में यह अकेला बांध है, जिससे 22 गांव की 9 हजार हेक्टेयर कृषि भूमि सिंचित होती है।

एक नजर में आवदा डैम

  • 42.5 फीट कुल क्षमता।
  • 20 मीटर ऊंचाई।
  • 1158 मीटर लंबाई।
  • 6 वर्ग किमी क्षेत्रफल।

233 वर्ग किमी कैचमेंट एरिया

  • 35 किमी लंबी दो नहरें हैं
  • 9000 हेक्टेयर में होती है सिंचाई।
  • 22 गांव के किसानों को मिलता है लाभ।

कांग्रेस ने भी उठाई मरम्मत की मांग

कांग्रेस नेता गिर्राज चौधरी का कहना है कि आवदा डैम की दीवार में रिसाव होता है। इसकी मरम्मत बहुत ही जरूरी है। यदि इस बार जल्द मरम्मत नहीं हुई तो परेशानी हो सकती है।

टैंडर खुलते ही होगा काम

सिंचाई विभाग के एसएडीओ पीके मिश्रा का कहना है कि आवदा डैम की मरम्मत के लिए डीपीआर भोपाल भेजी थी। शासन ने मंजूरी दे दी है। अब टेंडर लगाए जाने हैं। टेंडर खुलते ही काम किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...