डेंगू:डेंगू पीड़ित युवती ने दम तोड़ा, अब‎ तक 2 मौतें, सरकारी रिकॉर्ड में शून्य‎

श्योपुर‎एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्वास्थ्य विभाग ने अब‎ तक एक भी डेंगू मरीज‎ की मौत नहीं मानी‎

जिले में डेंगू के मरीज सामने आने‎ के बाद अब उन मरीजों की मौत‎ के मामले भी सामने आ रहे हैं।‎ सोंईकला के ज्वालापुर में रहने‎ वाली एक युवती की इलाज के ‎दौरान मौत हो ग ई। यह मौत‎ बुधवार-गुरुवार की दरमियानी रात‎ हुई। इससे दीपावली के पर्व पर घर‎ में मातम पसर गया। गुरुवार की‎ सुबह करीब 9 बजे युवती का‎ अंतिम संस्कार किया गया।‎ स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक जिले‎ में अब तक डेंगू के 194 मरीज‎ सामने आ चुके हैं।‎ जानकारी के मुताबिक‎ ज्वालापुर में रहने वाली रानी‎ (19) पुत्री रामचरण सुमन की‎ 30 अक्टूबर को तबीयत बिगड़ने‎ के बाद हालत गंभीर होने पर‎ परिजन उसे इलाज के लिए‎ सवाई माधौपुर के अस्पताल में‎ लेकर गए।

यहां डॉक्टर की‎ सलाह पर मरीज के प्लेटलेट‎ और डेंगू की जांच की गई। जांच‎‎ में डेंगू की पुष्टि हुई जबकि‎उसकी प्लेटले ट गिरकर 67‎ हजार रह गईं।परिजन ने दो दिन‎ तक उसे यहां भर्ती रखा लेकिन‎ जब हालत में कोई सुधार नहीं हुआ तो उसे इलाज के लिए‎ जयपुर ले गए। बाद में परिजन‎ उसे कोटा लेकर आ गए। जहां‎ बुधवार- गुरुवार की दरमियानी‎रात रानी ने इलाज के दौरान दम‎ तोड़ दिया। ऐसे में दीपावली के‎ दिन घर में खुशियों की जगह‎ मातम पसर गया। रानी की मौत‎ होने की सूचना स्वास्थ्य और‎ मलेरिया विभाग को नहीं है।‎ मलेरिया विभाग के अधिकारियों‎ की मानें तो जिले में डेंगू से अब‎ तक कोई मौत नहीं हुई है। जबकि‎ शहर के वार्ड नंबर 12 में रहने ‎वाली 14 वर्षीय अंशिका पुत्र‎ बृजेश भारद्वाज की भी डेंगू से‎ कोटा में मौत हो चुकी है।‎

खबरें और भी हैं...