पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Sheopur
  • Filled Rainwater In The Fields Became A Problem, There Is A Possibility Of Melting The Crop, Worms In Gram And Mahoo In Mustard.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मौसम की मार:खेतों में भरा बारिश का पानी बना मुसीबत, फसल गलने के आसार, चने में इल्ली और सरसों में माहू की भी अाशंका

श्याेपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • श्याेपुर और बड़ाैदा क्षेत्र में तेज बारिश के बाद गेहूं व चने के खेताें में भरा पानी निकालना किसानाें के लिए चुनाैती

जिले में दाे दिन हुई बेमाैसम बरसात से चाराें तरफ खेताें में पानी-पानी हाे गया है। खासकर निचले तराई क्षेत्र में खेताें में जलभराव से गेहूं व चना की फसल गलने के आसार देख मंगलवार काे किसान पानी निकालने की कवायद में जुट गए।

श्याेपुर और बड़ाैदा क्षेत्र में कई खेताें में आधा से एक फीट तक भरा पानी निकालने का किसानाें के लिए चुनाैती बन गया है। बारिश के पानी में गेहूं व चना की फसल डूब गई है। किसान अपनी फसल काे गलने से बचाने के लिए कई जगह वाटर पंप से भी पानी उलीचने का जतन कर रहे हैं।

वहीं बिगड़े माैसम से कीट व्याधियाें के अनुकूल हुई परिस्थितियाें ने किसानों को मुश्किल में डाल दिया है। बादल बारिश व माहाैल में नमी के कारण चने में इल्ली और सरसाें में माहू लगने का खतरा पैदा हाे गया है। इस बीच शीतलहर चलने से नदियाें और जंगल से सटे इलाके में सरसाें और अरहर के अलावा सब्जी की फसलाें काे पाला मारने की संभावना देख किसान चिंतित है।

कृषि विभाग के दल ने मंगलवार काे ग्राम जैदा, इच्छापुरा, कनापुर क्षेत्र में जाकर किसानाें काे कीट प्रबंधन के उपाय बताए। वहीं कृषि विज्ञान केंद्र बड़ौदा से कृषि वैज्ञानिकों के दल ने भी मैदानी भ्रमण कर फसलों का जायजा लिया। बता दें जिले में चालू रबी सीजन में कुल 1 लाख 54 हजार हेक्टेयर रकबे में फसलें खड़ी है।

सरसों की फसल में माहू रोग के नियंत्रण के लिए एमीडाक्लोरफिड दवा का घोल का करें छिड़काव

कृषि वैज्ञानिक पी गुजरे ने किसानों को सलाह दी है कि किसान सरसों की फसल में माहू रोग के नियंत्रण के लिए एमीडाक्लोरफिड नामक दवा 750 मिलीलीटर का घोल प्रति हेक्टेयर में छिड़काव करें। चना की फसल में प्रोपेनोफास दवा एक लीटर प्रति हेक्टेयर या इंडोक्जाकार्ब नामक दवा 750 मिली लीटर मात्रा में प्रति हेक्टेयर में छिड़काव करें। गेहूं की फसल में क्लोरोपायरीफास 50 प्रतिशत ईसी 5 लीटर प्रति हैक्टेयर छिड़काव की सलाह दी गई है।

बादल छाने से बनी कीट व्याधियों के हमले की स्थिति

जिले में रविवार और साेमवार काे कराहल काे छाेड़कर अधिकांश इलाकाें में हुई बारिश का पानी कई जगह मंगलवार काे भी खेताें में भरा रहा। श्योपुर और बड़ौदा क्षेत्र में अधिकांश खेतों में इस समय सरसाें में फूल खिल रहे हैं ताे चना की फसल फूल निकलने की शुरुआती स्टेज पर है। बेमाैसम बारिश के बाद धुंध और बादल छाने से फसलाें में कीट व्याधियाें के हमले की स्थिति बन गई है।

किसानाें ने बताया कि चना में इल्ली लगने और सरसों में माहू रोग की शिकायत देखने में आई है। श्योपुर विकास खंड के ग्राम जैदा, प्रेमसर, ननावद, ढोटी, डाबरसा, किशोरपुरा में चने की फसल में फूल निकलने की शुरुआत में इल्ली की संभावना टालने के लिए किसान कीटनाशक दवा छिड़कने के लिए माैसम साफ हाेने का इंतजार कर रहे हैं।

13 गांवाें में खेताें में भरा पानी बना मुसीबत

श्याेपुर और बड़ाैदा तहसील के 13 गांवाें में खेताें में बरसात का पानी भरने से गेहूं और चना की फसल गलने का खतरा मंडरा रहा है। प्रेमसर, उतनवाड़, नारायणपुरा, बमाेरी, राजाैरा, मूंडला, मंडी, राजपुरा, काेथ, कुड़ायथा, बाजरली, माताजी खेड़ली और राड़ेप के आसपास इलाके में किसानाें काे खेताें में भरा पानी निकालने के लिए मशक्कत करनी पड़ रही है।

किसान विष्णु जाट, महेंद्र जाट, गाेविंद तिवारी, रामभरत शर्मा ने बताया कि लगातार तीन-चार पानी में डूबने के कारण फसल गलने का खतरा रहता है। यदि किसानाें ने समय रहते पानी निकालने का इंतजाम नहीं किया ताे लाखाें रुपए का घाटा हाे सकता है। किसानों की यही चिंता उन्हें सता रही है और वे परेशान हो रहे हैं।

बादल और बढ़ते तापमान के कारण बढ़ सकता है कीट प्रकोप, किसान दवा छिड़काव और हल्की सिंचाई करें

बादल छाए रहने और तापमान बढ़ने के कारण चना में इल्ली व सरसों में माहू रोग लगने की आशंका है। इसी तरह माैसम खराब रहा ताे कीट प्रकोप की स्थिति बन सकती है। ऐसे माैसम में फ्लोवरिंग स्टेज पर सरसों में माहू रोग लगने की संभावना बढ़ जाती है। किसानों को बचाव के लिए दवा का छिड़काव करने तथा हल्की सिंचाई करने की सलाह दे रहे हैं।

-डॉ. लाखनसिंह गुर्जर, केंद्र प्रभारी, कृषि विज्ञान केंद्र बड़ौदा

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें