पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समस्या:पंचायत ने सीसी रोड, नालियां और शौचालय नहीं बनवाए, बारिश में जलभराव से लोग घरों में कैद

श्योपुर/ढोढरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गांव में बस्ती में हुआ जलभराव लोगों का घर से निकलना हुआ मुश्किल। - Dainik Bhaskar
गांव में बस्ती में हुआ जलभराव लोगों का घर से निकलना हुआ मुश्किल।
  • ग्राम पंचायत हांसिलपुर के पदमपुरा गांव में कच्चे रास्तों पर कीचड़ के हालात

गांवों में समग्र विकास के ग्रामीणों के सपने पर पानी फिरता नजर आ रहा है। पंचायतों ने गांवों में विकास काम के लिए योजनाएं तो तैयार कीं पर गांव में कुछ नहीं कराया गया है जिसका खामियाजा ग्रामीण भुगत रहे हैं। गांवों में जरूरी सड़क और सफाई की सुविधा तो ग्रामीणों को मिल ही नहीं रही है जिससे ग्रामीण परेशान हैं। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत कई बार वरिष्ठ अधिकारियों तक भी पहुंचाई, लेकिन उसका भी उन्हें अभी तक कोई लाभ नहीं मिला है।

ढोढर क्षेत्र की ग्राम पंचायत हांसिलपुर के पदमपुरा गांव में हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। हालात यह हैं कि गांव में न तो पक्की सड़क है और न ही पानी की निकासी की व्यवस्था। बारिश होने पर बस्तियों में पानी भरा हुआ है। पंचायत के द्वारा गांव में शौचालयों का निर्माण तक नहीं कराया गया है। इसलिए खुले में शौच जाना ग्रामीणों की मजबूरी हो गया है। ग्रामीणों को खुले में शौच जाने पर सांप और बिच्छुओं का डर बना रहता है। पक्की सड़क नहीं होने का खामियाजा भी ग्रामीण ही भुगत रहे हैं। दो दिन पहले हुई बारिश का पानी मुख्य मार्ग पर भरा हुआ है। रास्ते में कीचड़ होने से लोग फिसलकर गिर रहे हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि वह ग्राम पंचायत की बैठकों में लगातार इस बात का मुद्दा उठा चुके हैं, लेकिन पंचायत सरपंच और सचिव सुनवाई करने के बजाय उनके साथ अभद्रता करते हैं।

अनदेखी... सफाई करने के लिए कर्मचारी ही नहीं आते

पदमपुरा निवासी नारायण सिंह ने बताया कि पंचायत में साफ-सफाई को लेकर कहीं कोई व्यवस्था नहीं है। सड़कों पर घरों से निकलने वाला गंदा पानी बहता रहता है। जिससे ग्रामीण खुद ही परेशान हो गए हैं। जब भी इसकी शिकायत पंचायत से करने के लिए जाते हैं तो विवाद की स्थिति पैदा हो जाती है। इसके बाद से ही ग्रामीणों ने शिकायत करना भी छोड़ दिया है।

खबरें और भी हैं...