श्योपुर में गोसेवा के लिए आगे आए युवा:ठंड से बचाने गोशाला में लगाए 20 रूम हीटर, दिन रात जलाते हैं अलाव, घायल और बीमार गायों की मदद में भी अव्वल

श्योपुर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

श्योपुर शहर के टीन शेड क्षेत्र में युवाओं की टोली कड़ाके की ठंड में गोवंश का सहारा बन रही है। युवाओं में बनाई राष्ट्रीय गो सेवा धाम में तेज सर्दी से गोवंश को बचाने के लिए खास व्यवस्था की गई है। युवाओं की इस पहल के साथ अब हर कोई जुड़ रहा है।

युवाओं ने 5 साल पहले राष्ट्रीय गोसेवा धाम की शुरूआत की थी। इसके माध्यम से यह गो सेवक लावारिस गोवंश का सहारा बनने लगे। जब मध्य प्रदेश में ठंड बढ़ने लगी, तो युवाओं ने गायों को ठंड से बचाने की शुरूआत की।

आम लोग भी कर रहे युवाओं की मदद

राष्ट्रीय गोसेवा धाम आमतौर पर बीमार और घायल गोवंश की ही मदद करती थी, लेकिन सर्दी के दौरान यहां खास प्रबंध किया जा रहा है। युवाओं की टीम ने गायों को सर्दी से बचाने के लिए गोशाला में रखकर गर्म कपड़े पहनाए।

युवाओं की पहल को देखते हुए दानदाताओं ने भी 20 से ज्यादा रूम हीटर गोशाला में लगवा दिए है। यह रूम हीटर 24 घंटे गोवंश को सर्दी से बचाते है। इसके साथ ही युवा दिन-रात गोवंश के आसपास अलाव भी जलाते है।

5 साल से कर रहे गोवंश की सेवा

राष्ट्रीय गोसेवा धाम के अध्यक्ष किम्मी गौतम का कहना है कि पिछले 5 सालों से हमारे युवा इस गोसेवा धाम में घायल और बीमार गोवंश को लाकर उनका उपचार करते हैं। तेज सर्दी के दौरान उन्हें सर्दी से बचाने के लिए अलाव के साथ ही बोरी या टाट के गर्म कपड़े पहने जा रहे हैं।

स्थानीय दानदाताओं की मदद से मिले रूम हीटर को भी यहां लगाकर गोवंश को सर्दी से राहत देने के प्रयास किए जा रहे हैं।