पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Sheour
  • A Prisoner Who Had Escaped From A Temporary Jail A Day Earlier Was Hanged In The Jail After Being Caught, The Family Accused Death Due To Beating Of Police And Jail Management

जेल के अंदर कैदी की मौत:एक दिन पहले अस्थायी जेल से भागे कैदी ने पकड़े जाने के बाद जेल में ही लगाई फांसी, परिजन का आरोप- पुलिस व जेल प्रबंधन की पिटाई से हुई मौत

श्योपुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक सोनू का शव के पास विलाप करते परिजन।
  • 15 अक्टूबर को आर्म्स एक्ट में पकड़ा था आरोपी 15-16 की रात कोरोना अस्थायी जेल से भागा
  • 16 अक्टूबर को पकड़कर पुलिस ने फिर भेजा था जेल

शनिवार की दोपहर एक कैदी ने जेल में फांसी लगा ली, कैदी की मौत पर गुस्साए परिजन ने पुलिस व जेल प्रबंधन पर जबरन मारपीट करने के आरोप लगाए और उसे आत्महत्या के बजाए हत्या बता रहे है। हालांकि पुलिस व जेल प्रबंधन इन आरोपों को सिरे खारिज कर रहा है। 15 अक्टूबर को आर्म्स एक्ट के मामले में कोतवाली पुलिस ने शहर के रेगर मोहल्ला निवासी सोनू सुमन को पकड़ा और कोर्ट ने उसे जेल भेज दिया। यहां जेलर ने उसका कोरोना सैंपल कराते हुए उसे अस्थायी कोरोना जेल में रखा। लेकिन 15-16 अक्टूबर की रात ही वह कोरोना जेल से भाग गया। जिसकी रिपोर्ट कोतवाली में जेल प्रहरी द्वारा दर्ज कराई गई।

इस पर पुलिस ने उसे 16 अक्टूबर की सुबह मौसी के घर से गिरफ्तार करना बताया। इसके बाद उसे फिर से जेल भेजा गया। लेकिन शनिवार की दोपहर 1-2 बजे के बीच उसने जेल की बैरक नंबर 3 में ओढ़ने के लिए मिली चादर फाड़कर फंदा बनाया और बैरक के पंखे से लटक गया। जिससे उसकी मौत हो गई। जेलर वीएस मौर्य ने बताया कि दोपहर 12.30 बजे तक तो वह ठीक था, उसे बैरक नंबर 3 में अकेले इसलिए रखा गया था, क्योंकि उसके कोरोना सैंपल की रिपोर्ट नहीं आई थी। ऐसे में उसे बैरक में अकेले रखकर क्वारेंटाइन किया गया था।

परिजन का आरोप: पुलिस व जेल प्रबंधन की पिटाई से मौत
मृतक की बहन रानी सुमन व मौसी ने जेल के सामने ही मौके पर मौजूद एसडीएम व जेलर के सामने आरोप लगाए कि मृतक सोनू सुमन ने आत्महत्या नहींं की है। उसे तो पुलिस व जेल प्रबंधन के द्वारा प्रताड़ित किया गया और उसकी मारपीट की गई, जिसके चलते उसकी मौत हो गई और अब जेल प्रबंधन इसे आत्महत्या बताने पर अड़ा हुआ है।

नशे का आदी था, अब परिवार में सिर्फ बहन ही रह गई है
मृतक की बहन व मौसी ने बताया कि सोनू सुमन नशे का आदी था और इसकी लत में वह परेशान करता था। ऐसे में वह कई बार जेल भी गया लेकिन 15 दिन से ज्यादा जेल में नहीं रहा। उसे कोरोना जेल से भागने के बाद पुलिस के हवाले भी हमने ही किया था। अब परिवार में सिर्फ बहन ही रह गई है।

मामले की होगी मजिस्ट्रियल जांच, सीजेएम ने निरीक्षण किया
कैदी की मौत की सूचना जिला न्यायालय के सीजेएम को दी गई, जिस पर उनके द्वारा जेल का निरीक्षण किया गया। एसडीएम रूपेश उपाध्याय ने बताया कि उक्त मौत के मामले में न्यायालयीन स्तर से ही जांच की जाएगी। इसकी पीएम रिपोर्ट आने के साथ ही शुरू होगी और परिजन के बयान भी दर्ज होंगे।

प्रहरियों के सस्पेंशन की कार्रवाई करेंगे
^जेल में ड्यूटी पर तैनात दो आरक्षकों से मामले में स्पष्टीकरण मांगा है। इनके खिलाफ जेल में हुई मौत के मामले में निलंबन की कार्रवाई की जाएगी। उक्त कैदी जेल में 15 को आया था और फिर भागने के बाद पुलिस के द्वारा पकड़ा गया था, जिसे 16 को फिर से जेल भेजा गया था। कोरोना सैंपल होने के चलते इसे बैरक में अकेला ही रखा गया था।
वीएस मौर्य, जेलर, जिला जेल श्योपुर

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपनी दिनचर्या को संतुलित तथा व्यवस्थित बनाकर रखें, जिससे अधिकतर काम समय पर पूरे होते जाएंगे। विद्यार्थियों तथा युवाओं को इंटरव्यू व करियर संबंधी परीक्षा में सफलता की पूरी संभावना है। इसलिए...

और पढ़ें