पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Sheour
  • Chief Minister! The Previous Government Had Disappointed, Then You Had Raised The Voice Of The Students, Now You Are The Government, Get The Laptop

प्रदर्शन:मुख्यमंत्री जी! पिछली सरकार ने मायूस किया था तब आपने ही उठाई थी छात्रों की आवाज, अब तो आप ही सरकार हो, दिला दीजिये लैपटॉप

श्योपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कक्षा 12वीं में 75% से ज्यादा अंक लाने वाले मेधावी छात्रों ने कलेक्टोरेट पर किया प्रदर्शन

प्रिय शिवराज मामाजी, कमलनाथ सरकार ने पिछले साल लैपटॉप नहीं दिए थे तब आपने ही भांजे भांजियों की मांग उठाई थी। लेकिन तब कमलनाथ सरकार ने मायूस किया था। अब तो आप खुद ही सरकार हाे। दाे साल से मायूस मेधावी विद्यार्थियों को जल्द लैपटॉप दिला दीजिए। हमारी सुन लो नहीं तो भाेपाल आकर प्रदर्शन करेंगे। पीजी काॅलेज छात्र संगठन ने यह बात मंगलवार को मेधावी लैपटॉप दिए जाने की मांग लेकर कलेक्टाेरेट पर प्रदर्शन के बाद मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन में कही है। दाेपहर 12 बजे जिलेभर से मेधावी छात्रों के साथ पीजी काॅलेज छात्र प्रतिनिधि राम नरेश माली की अगुवाई में ज्ञापन में अपनी मांग रखते हुए कहा कि वर्ष 2018 में मध्य प्रदेश सरकार के परिवर्तन होने पर कांग्रेसी सरकार ने बजट की कमी बताते हुए मुख्यमंत्री प्रोत्साहन योजना को बंद कर दिया। इस योजना के तहत कक्षा 12वीं में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले मेधावी छात्रों को लैपटॉप के लिए 25,000 रु दिए जाते रहे हैं, परंतु कमलनाथ सरकार ने 2018-19 के छात्रों को योजना का लाभ न देकर निराश कर दिया। अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सरकार है। शैक्षणिक सत्र 2019 और 20 के विद्यार्थियों को इस योजना का लाभ मिलने का इंतजार है। सत्र 2018-19 के मेधावी छात्रों के साथ भी भेदभाव नहीं हाेना चाहिए। सरकार मेधावी विद्यार्थियों के पक्ष में शीघ्र निर्णय करें।

मुख्यमंत्री प्रोत्साहन योजना बंद होने के बाद जिले में दाे साल से लैपटाॅप के हकदार 3600 छात्र कर रहे इंतजार

प्रदेश में 2009 से शुरू हुई मुख्यमंत्री प्राेत्साहन याेजना के तहत कक्षा 12 वीं बाेर्ड परीक्षा में 75 प्रतिशत से अधिक नंबर लाने वाले जिले के 1650 छात्र-छात्राओं काे साल 2018 में लैपटाॅप के लिए 25 हजार रुपए दिए गए थे। लेकिन 2019 में कमलनाथ सरकार ने बजट का संकट बताकर मेधावी छात्राें काे मायूस कर दिया गया था। माध्यमिक शिक्षा बाेर्ड परीक्षा 2019 में जिले के 1580 विद्यार्थियों के 75 फीसदी से अधिक अंक थे। लेकिन उन्हें लैपटॉप नहीं दिए गए थे। साल 2020 में जिले से 900 बच्चाें ने 85 प्रतिशत और 1120 विद्यार्थियों ने 75 प्रतिशत से ज्यादा अंकाें के साथ प्रथम श्रेणी में परीक्षा उत्तीर्ण किया है। कांग्रेस सरकार ने इन्हें लैपटॉप नहीं दिए थे। दाेनाें साल के लगभग 3600 छात्र-छात्राओं काे लैपटाॅप दिलाने की मांग काे लेकर पीजी काॅलेज के छात्र संगठन की अगुवाई में मंगलवार काे छात्राें ने कलेक्टाेरेट पर प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन साैंपा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें