पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अस्तित्व पर संकट:दो जलाशयों के बीच बना डोबकुंड लेकिन इसके संरक्षण की योजनाएं सिर्फ कागजों में

श्योपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर से करीब 55 किमी दूर गोरस-श्योपुर मार्ग पर स्थित डोबकुंड का अपना गौरवशाली इतिहास है। यहां 8 से 10 हजार साल पूर्व आदिमानव के द्वारा बनाए गए शैलाश्रय, शैलचित्र और प्रतिमाएं आज भी अद्वितीय हैं।

10वीं-11वीं शताब्दी में डोब कच्छपघात राजाओं की राजधानी रहे डोब में संवत् 1045 मे विक्रम सिंह कच्छापघात द्वारा बनाए गए जैन मंदिर, हरगौरी मंदिर तथा अन्य मंदिरों के भाग्नावशेष आज भी लोगों को बरबस ही आकर्षित कर लेते हैं। जानकारों के मुताबिक यहां दो कुंड हैं जिनमें हमेशा पानी रहता है जिस वजह से इस जगह का नाम डोब पड़ा। इसके संरक्षण के लिए कई बार योजनाएं बनाई गईं लेकिन प्रशासन की उपेक्षा के चलते यह संपदा धूलधरसित होने के साथ इसके अस्तित्व पर भी संकट नजर आने लगा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser