पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नए नियम की अनदेखी:मिठाई की मैन्युफैक्चरिंग और एक्सपायरी डेट दर्शाना है, दुकानदार ऐसा कर ही नहीं रहे

श्योपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एक दुकान पर शोकेस में रखीं मिठाइयों की ट्रेे पर नहीं लिखी गई एक्सपायरी डेट।
  • त्योहार का सीजन शुरू, मिठाई दुकानदार और खाद्य विभाग गाइड लाइन में बरत रहे लापरवाही

नवरात्रि से त्योहारी सीजन शुरू हो गया है। शहर में फूड सेफ्टी एंड अथॉरिटी ऑफ इंडिया के नए नियमों का पालन कराने के लिए विभाग ने अभी तक कोई प्रयास नहीं किए हैं। सीजन शुरू होने से पहले न तो खाद्य सुरक्षा विभाग ने व्यापारियों की कोई बैठक ली न ही नियमों के बारे में उन्हें कोई समझाइश दी गई।

नियम के तहत दुकानदार को प्रत्येक मिठाई की मैन्युफेक्चरिंग व एक्सपायरी डेट दर्शाना है। शहर में दुकानदारों के द्वारा इस नियम का पालन अभी तक शुरू नहीं किया गया है। बिना एक्सपायरी और मैन्युफैक्चरिंग दर्शाए बिना धड़ल्ले से व्यापारी दुकानों पर मिठाई बेच रहे है। ये हालात अकेले श्योपुर ही नहीं बल्कि विजयपुर, कराहल, बड़ौदा सहित ग्रामीण अंचलों में नजर आ रहे हैं। व्यापारियों का कहना है कि उन्हें अभी तक नई गाइडलाइन के बारे में पता नहीं है।

वहीं खाद्य सुरक्षा अधिकारी का कहना है कि केंद्र सरकार की नई गाइडलाइन में स्पष्ट है कि मिठाई विक्रेता जो मिठाइयां बेच रहे हैं उनके बनने और उपयोग की तिथि स्पष्ट रूप से अंकित करना है। डिब्बे और ट्रे दोनों पर अंकित करते हैं तो बेहतर है नहीं तो ट्रे पर अंकित करना ही है।

तैयारी जरूरी, मिठाई का होता है आदान-प्रदान
आगामी माह में दीपावली, दशहरा जैसे कई पर्व आने वाले हैं। इन पर्वों में परंपरागत चलन के अनुसार मिठाई का आदान प्रदान खूब होता है। ऐसे माहौल में ही मिलावटी सामग्रियों की मिठाइयों का सिलसिला भी जोर-शोर से चलता है। फूड प्वाइजनिंग जैसी कई गंभीर बीमारियों की चपेट में लोग खराब मिठाइयों के सेवन से आ जाते हैं। ऐसे हालात से निपटने प्रशासन को तैयारी शुरू करना चाहिए। लेकिन अभी तक कोई तैयारी शुरू नहीं हुई है।

दुकानदार बोले- हमें नियमों की जानकारी ही नहीं
जिले में 50 से अधिक मिठाई की दुकानें हैं। मिठाई दुकान के संचालक मनोज गुप्ता व अरविंद अग्रवाल ने बताया कि नए नियमों के बारे में हमें जानकारी नहीं है। विभाग की ओर न तो कोई बैठक की गई है न ही कुछ बताया गया है। इसलिए हमें ज्यादा जानकारी नहीं है। लॉकडाउन के बाद से नियमों में संशोधन किए गए हैं। इसे देखते हुए पालन कर रहे हैं। ग्राहकों के प्रति हमारी भी जिम्मेदारी बनती है। वहीं ग्रामीण अंचल में भी कई दुकानदार नियमों की जानकारी नहीं होने का हवाला देकर अपना पल्ला झाड़ रहे हैं।

ग्राहक बोले- शिविर लगाकर दुकानदारों को दें जानकारी
ग्राहक अतुल शर्मा, राकेश शर्मा, सोनू शर्मा, विवेक परिहार ने बताया कि नियमों की जानकारी नहीं होने से लोग कई बार वो ठगी के शिकार भी हो जाते हैं। नियमों के प्रति जागरूक करने के लिए जिले में शिविर लगाए जाने चाहिए। ग्राहक नकुल जैन ने कहा विभाग का नया नियम अच्छा है, इस का सही पालन हो रहा है या नहीं, इसकी निगरानी की जाए, तब ही लोगों को फायदा मिलेगा, नहीं तो कोई काम का नियम नहीं है। ग्राहकों को इसी तरह नुकसान झेलना होगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी अनुभवी तथा धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति से मुलाकात आपकी विचारधारा में भी सकारात्मक परिवर्तन लाएगी। तथा जीवन से जुड़े प्रत्येक कार्य को करने का बेहतरीन नजरिया प्राप्त होगा। आर्थिक स्थिति म...

और पढ़ें