पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

धार्मिक आयोजन:रामजानकी मंदिर में पौषबड़ा का लगा भाेग, प्रसाद के लिए उमड़े श्रद्धालुगण

श्योपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पौष माह के चलते शहर में प्रमुख मंदिर-देव स्थानों पर सामाजिक एवं व्यापारी संगठनों की ओर से कई धार्मिक आयोजन किए जा रहे हैं। शहरवासियों के आराध्य किला स्थिति ऐतिहासिक राम जानकी मंदिर पर गुरुवार काे पाैषबड़ा महाेत्सव मनाया। मंदिर में भगवान काे नई पोशाक धारणकर पाैष बड़ा की झांकी सजाई गई।

शाम 4 बजे मंदिर के महंत रामभरोसे महाराज ने भगवान की अारती उतारी। इस दाैरान ढाेल-नगाड़े, झालर व शंख ध्वनि के बीच श्रद्धालुओं से खचाखच भरे मंदिर प्रांगण में जय सियाराम के उद्घाेष से वातावरण गूंज उठा। आरती के पश्चात युगल सरकार को पाैष बड़ाें का भोग लगाया गया। पौषबड़ा की मनाेहर झांकी के दर्शन के साथ प्रसाद पाने के लिए भक्ताें में हाेड़ सी लगी।

एक तरफ महिलाओं ने भक्ति गीत गाए ताे दूसरी तरफ भट्टी पर मूंग की दाल के गर्मं बड़ाें का प्रसाद बंटता रहा। देर शाम तक पाैषबड़ा प्रसाद पाने के लिए शहरभर से पुरुष,महिला और बच्चाें का खासा जमावड़ा लगा। राम जानकी मंदिर सेवा समिति के रामअवतार शर्मा, अखिल भदाैरिया आदि सदस्याें ने प्रसादी वितरण की व्यवस्था संभाली।

जानिए... 354 साल पहले राजा नरसिंह गाैड़ ने कराया था इस मंदिर का निर्माण

श्याेपुर के ऐतिहासिक किले में सीप और कदवाल नदी के संगम स्थल पर भगवान रामजानकी मंदिर का निर्माण संवत 1724 में अर्थात सन् 1667 ईस्वी में गाैड़वंश के राजा नरसिंह गाैड़ द्वारा कराया गया था। वे परम शिवभक्त भी थे। राजा नरसिंह गाैड़ प्रतिदिन भगवान के दर्शन के बाद ही भाेजन करते थे इसलिए मंदिर इस तरह बनाया गया कि किले की प्राचीर से ही भगवान की प्रतिमाओं के दर्शन हा़े सके।

यूं ताने अधिकांश हिंदू मंदिर पूरब मुखी हाजते हैं, लेकिन रामजानकी जी का यह मंदिर पश्चिम दिशा में बना हुडा है। किले की दीवार पर पतंग बुर्ज के पास नरसिंह झरेखां बना हुडा है। जिला पुरातत्व एवं संस्कृति संरक्षण समिति के पूर्व सचिव तथा श्याेपुर के इतिहास के जानकार कैलाश पाराशर ने बताया कि इसी झराेखे पर बैठकर गाैड़राजा लगभग 100 मीटर के फासले पर मंदिर में स्थापित भगवान के दर्शन कर लेते थे।

गाेवर्धन में 11 वें भंडारे के लिए आज प्रस्थान करेंगे श्रद्धालु

शिवनगरी श्याेपुर की तरफ से श्रीकृष्ण की नगरी गाेवर्धन मेें आयाेजित 11वें भंडारे में भाग लेने के लिए शुक्रवार काे सैकड़ाे श्रद्धालु रवाना हाेंगे। श्री गिरिराज सेवा समिति का विशाल भंडारा 23 व 24 जनवरी काे हाेगा। गाेवर्धन परिक्रमा मार्ग में मानव सेवा ट्रस्ट रघुलीला धाम के अंतिम पड़ाव के पास कार्यक्रम स्थल पर शनिवार काे फूल बंगला और छप्पन भाेग की झांकी सजाई जाएगी।

दाे दिन चलने वाले इस भंडारे के लिए श्याेपुर से 22 जनवरी काे बस और निजी वाहन से श्रद्धालु प्रस्थान करेंगे। गिरिराज सेवा समिति ने गुरुवार काे शहर सहित ग्रामीण क्षेत्र में प्रचार वाहन के माध्यम से लाेगाें काे अधिक से अधिक संख्या में गाेवर्धन पहुंचकर भंडारे में शामिल हाेने का अनुराेध किया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें