पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Sheour
  • RTPCR Tests Did Not Increase Even After The Order Of CM ACS, 50% Less Than Antigen, Because The Infection Rate In Antigen Test Is Zero

कोरोना जांच:सीएम-एसीएस के आदेश के बाद भी आरटीपीसीआर की जांचें नहीं बढ़ाईं, एंटीजन की तुलना में 50% कम, क्योंकि एंटीजन जांच में संक्रमण दर शून्य

श्योपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
विजयपुर में सैंपल देता युवक। - Dainik Bhaskar
विजयपुर में सैंपल देता युवक।
  • मुख्यमंत्री और अपर मुख्य सचिव ने दिए थे आरटीपीआर के सैंपल बढ़ाने के निर्देश, लेकिन प्रशासन ने दो दिन बाद भी नहीं किया अमल
  • आरटीपीसीआर से ज्यादा जांचें कराने से डर क्योंकि इससे संक्रमण दर 10.19 फीसदी

27 मई को 41 पॉजिटिव मिलने के बाद 28 मई काे हुई वीडियाे कांफेंसिंग के दौरान सीएम शिवराज सिंह चौहान और अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान की नाराजगी का सामना कलेक्टर राकेश श्रीवास्तव काे करना पड़ा था। मुख्यमंत्री व एसीएस ने ही संक्रमण को कम करने के लिए आरटीपीसीआर की जांचें रेपिड एंटीजन की तुलना में बढ़ाने के निर्देश दिए थे।

लेकिन प्रशासन ने इस आदेश पर कोई अमल नही किया। ऐसा इसलिए क्योंकि एंटीजन की तुलना में आरटीपीसीआर में संक्रमित मरीज ज्यादा निकल रहे हैं और एंटीजन जांच में तीन दिन से संक्रमित मरीज पाॅजिटिव मिल ही नहीं रहे हैं। आरटीपीसीआर की बीते तीन दिन की जांचों में संक्रमण दर 10.19 फीसदी आ रही है। यही कारण है कि प्रशासन आरटीपीसीआर की जांचें बढ़ाने में हिचकिचा रहा है। जिले में आरटीपीसीआर की जांच एंटीजन की तुलना में 50 फीसदी तक कम की जा रही हैं।

वर्तमान में जिले की कुल संक्रमण दर 5.20 फीसदी
जिले में वर्तमान में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा तेजी से गिरा है। लेकिन 27 मई को अचानक 41 पॉजिटिव मरीज अाने से संक्रमण दर 2.4 फीसदी उछलकर 5.20 फीसदी हाे गई। हालांकि दो दिन से राहत है। अब जिले में कुल संक्रमण दर 5.20 पर है। वही राहत की बात यह है कि रिकवरी दर में भी बढ़ोतरी हुई है, जो कि अब 93.06 फीसदी पर पहुंच गई है। जिले में कोरोना संक्रमण की जद में अब तक 3950 लोग आए हैं। इनमें अप्रैल माह में 1171 और मई माह में अब तक 1156 संक्रमित पाए गए है। वही जिलेभर में 98 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौतें हुई हैं। मई माह की बात करें तो इसमें 52 मरीजों ने दम तोड़ा हैं।

आरटीपीसीआर जांच बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं
^हमारे यहां 800 जांच रोज करने का लक्ष्य है। जिसमें 400 सैंपल रेपिड और 400 आरटीपीसीआर की जांच करने का लक्ष्य है। जिले में अभी तीन दिनों की संविदा कर्मचारियों की हड़ताल हो गई थी। इसमें कोविड स्टॉफ भी शामिल था।
डॉ. बीएल यादव, सीएमएचओ, श्योपुर

खबरें और भी हैं...