पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

किसानों से ठगी:चना-सरसों की क्वालिटी जांचने 500 ग्राम के बजाए 3 किलो निकाल रहे सर्वेयर, किसान बोले- यह ताे चोरी है

श्योपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भास्कर संवाददाता|श्योपुर चना-सरसों की खरीदी समर्थन मूल्य पर 11 केंद्रों पर हाे रही है। इसमें अब तक चना साढ़े तीन हजार मीट्रिक टन अाैर सरसों 670 मीट्रिक टन खरीदी जा चुकी है लेकिन इसमें किसानों से ठगी की जा रही है। सैंपल लेने के लिए 500 ग्राम चना या सरसाें निकालने का नियम है लेकिन सर्वेयर 2 से 3 किलो उपज ले रहे हैं। कई किसानों ने इसके फोटो और वीडियो वायरल कर कहा है कि यह साफ तौर पर चोरी है, जिसे रोका जाए। समर्थन मूल्य पर गेहूं के अलावा चना-सरसों की खरीदी भी अलग से निर्धारित 11 केंद्रों पर हाे रही है। यहां किसानों ने सैंपल के नाम पर 2 से 3 किलो तक चना लेने की बात पर बीते साल भी जमकर हंगामा हुआ था, जिससे खरीदी प्रभावित हुई थी। इस बार फिर इसी तरह का मामला सामने आया है। बावजूद इसके नियमों काे अनदेखा करते हुए सर्वेयर व कर्मचारी चना-सरसों का अधिक सैंपल ले रहे हैं और किसानों को धोखा दे रहे हैं। किसानों ने यह भी आरोप लगाए कि चना-सरसों की तौल में केंद्रों पर 400-500 ग्राम तक लेने के नियम हैं, पर यहां 800-900 ग्राम तक चना-सरसों प्रति बोरी अधिक ली जा रही है। वैसे ऐसा होना नही चाहिए, क्योंकि खरीदी ही 25 दिन की देरी से शुरु हुई है तो चने के अब और सूखने का कोई अनुमान नही है, बावजूद इसके तौल में यहां चना-सरसों प्रति बोरी पर 800-900 ग्राम बोरे के वजन व सूखे के नाम पर लिया जा रहा है। जिसे किसान साफ तौर पर चोरी बता रहे हैं। 

3.5 हजार मीट्रिक टन चना व 670 मीट्रिक टन सरसों की खरीद

11 समर्थन केंद्रों पर अब तक 2 हजार 19 किसानों से 3 हजार 500 मीट्रिक टन चना खरीदा जा चुका है। अभी भी यहां पंजीकृत किसानों में से करीब 2800 किसान शेष बचे हुए है। इसी तरह 391 किसानों से 670 मीट्रिक टन सरसों की खरीदी की जा चुकी है, जिसमें अभी भी 3 हजार से ज्यादा किसान शेष बचे हुए हैं।

गेहूं 2.4 लाख मीट्रिक टन की हुई खरीदी, 20 हजार ने बेचा

79 गेहूं खरीदी केंद्रों पर शुक्रवार तक 20 हजार 570 किसानों ने सरकार को गेहूं बेच दिया है जिसकी मात्रा 2 लाख 4 हजार मीट्रिक टन पर पहुंच गई है। यहां केंद्रों पर अभी भी किसानों की भीड़ लगी हुई है जबकि करीब 5 हजार किसान अभी शेष बचे हुए हैं।

30 मई में बचे सिर्फ 7 दिन, अभी 5 हजार किसान कतार में

गेहूं खरीदी में अब महज 7 दिन शेष बचे हुए है, इधर सरकार की ओर से तारीख बढ़ाने को लेकर कोई प्रक्रिया नही अपनाई गई है। जबकि यहां 5 हजार के करीब किसान गेहूं बेचने के लिए अभी भी शेष बचे हुए है। जिन्हें मैसेज तो मिल गए, लेकिन केंद्रों पर 8-10 किमी लंबी कतारें लग गई है। यहां शुक्रवार को प्रेमसर, सलमान्या, नागदा पर लंबी-लंबी कतारें देखने में मिली। जिससे अब किसानों में हड़बड़ाहट है कि उनका गेहूं तय तारीखों से पहले बिक भी पाएगा या नही। अगर केंद्रों पर गेहूं नही बिका तो उन्हें मंडी में 300-400 प्रति क्विंटल के कम भाव पर उक्त गेहूं बेचने पर मजबूर होना पड़ेगा। 

अब गेहूं खरीदी में आ रही शिकायत, नियम बदले तो कई किसान हुए बाहर

शासन स्तर से 11 और 12 मई की तारीखों में भेजे गए मैसेज पर खरीदी 16 मई के बाद से करने पर रोक लगा दी गई है। इसी तरह 16 और 17 के लिए भी यही नियम आगामी तारीख तय करते हुए लागू किए गए है। ऐसे में अब खाद्य आपूर्ति विभाग में तौल न होने व कतार से बाहर किए जाने की शिकायतें पहुंचने लगी है। किसान मूलचंद मीणा व रामअवतार प्रजापति से लेकर अन्य लोग पहुंचे, जिन्होंने विभागीय अफसरों को बताया कि उन्हें मैसेज 11 और 12 तारीखों में गेहूं बेचने के लिए मिले थे, ऐसे में वह सायलों केंद्र सलमान्या व नागदा पर कतार में लग गए, लेकिन उन्हें यहां 5-8 दिन नंबर में आने में लग गए, अब उन्हें यह कहकर वापस लौटा दिया गया है कि उनकी तारीखें निकल चुकी है। इसलिए उक्त किसानों का गेहूं नही खरीदा जाएगा। इससे किसान परेशान हो चुके हैं। 

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें