पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Sheour
  • Teaching The Unemployed A Job Of Cheating, When These Youths Realized That It Was A Fraud, They Started Running Separate Gangs, Four Such Gangs Were Active In The District

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ऑनलाइन ठगी का गोरखधंधा:बेरोजगारों को नौकरी का झांसा देकर सिखाया ठगी का कारोबार, इन युवाओं को जब समझ आया कि यह फर्जीवाड़ा है तो चलाने लगे अलग गैंग, जिले में ऐसे चार गैंग सक्रिय

श्योपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पूर्व में पकड़े गए थे 7 ठग, इनके कनेक्शन हरियाणा से जुड़े, क्योंकि वहीं से ली गई ठगी की ट्रेनिंग

बेरोजगारी अब युवाओं को अपराध के रास्ते पर धकेल रही है। श्योपुर में ऐसा ही मामला सामने आया है। इसमें ग्रामीण युवाओं को कम योग्यता पर भी अच्छी कमाई का लालच देकर ऑनलाइन ठगी का कारोबार सिखाया गया और फिर इनसे कॉल सेंटर के नाम पर कमीशन के आधार पर नौकरी कराई गई। लेकिन इन युवाओं को यह भी पता था कि यह ठगी का रास्ता गलत और कानूनन जुर्म भी हैं। लेकिन इन्होंने इसे बंद करने के बजाए खुद के अलग गैंग बना लिए और ठगी कारोबार करना शुरू कर दिया। 16 जुलाई को श्योपुर पुलिस ने शहर से गैंग ऑपरेटर भजनलाल ओढ़, कुलदीप ओढ़, विकास ओढ़, श्रीकांत ओढ़, सुनील ओढ़, मुकेश ओढ़ व सरगना सतवीर के भाई रघुवीर ओढ़ को पकड़ा था। इनसे खुलासा हुआ कि इन्होंने ऑनलाइन ठगी के माध्यम से लोन दिलाने और मोबाइल टॉवर किराए से लगाने के नाम पर लोगों से करीब 2 करोड़ रुपए की ठगी की है। इनसे हुई पूछताछ में अन्य लोगों के भी नाम सामने आए जो कि ऑनलाइन ठगी के कारोबार से जुड़े थे। इन्हें जेल भेजने के बाद पुलिस ने धीरोली व माकड़ौद से बलराम, सुखपाल और राकेश को गिरफ्तार किया। इन्होंने भी पुलिस को बताया कि उन्होंने लोन देने और मोबाइल टॉवर किराए से लगाने नाम पर करीब 1.5 करोड़ रुपए की ठगी की है। शुक्रवार को इन आरोपियों को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया, जहां से इन्हें जेल भेज दिया गया हैं।

श्योपुर में भी बेरोजगार युवाओं को अच्छी कमाई का यकीन दिलाकर सिखाया ठगी करना, सभी भेजे गए जेल

पहले नौकरी के लालच में सीखा काम, फिर चलाया खुद का ऑनलाइन ठगी का गैंग
धीरोली और माकड़ौद गांव के बलराम, सुखपाल और राकेश को पहले गैंग ऑपरेटर भजनलाल व भोपाल पुलिस की पकड़ में आए सुरेश राजपूत ने नौकरी का झांसा देकर ऑनलाइन ठगी का काम सीखाया। लेकिन इन युवाओं को मालूम था कि यह कानूनन जुर्म है बावजूद इसके रुपयों के लालच में यह इस काम से जुड़ गए। शुरूआत के 6 महीने तो उक्त युवाओं ने कॉल सेंटर के नाम पर लोगों से ऑनलाइन ठगी का काम कमीशन के आधार पर किया, जिसमें इन्हें हर महीने करीब 30 हजार रुपए तक कमाई होने लगी, लेकिन जब इन्हें इसमें मोटा मुनाफा कमाने का लालच जागा तो इन्होंने खुद का नया गैंग बना लिया और अलग से कारोबार शुरू कर दिया है।

जिले में चल रहे चार गैंग... अभी भी एक और गैंग की तलाश में जुटी पुलिस
नौकरी के लालच में श्योपुर में करीब 10-15 युवाओं को इस तरह से गैंग ऑपरेटर भजनलाल राजपूत व सुरेश राजपूत ने ऑनलाइन ठगी का कारोबार सिखाया है। धीरोली और माकड़ौद से पकड़ में आए आरोपियों ने पुलिस से यह बात कबूल की है और अब पुलिस चौथे गैंग की तलाश में जुट गई है। जिसे भी पुलिस जल्द ही पकड़ने का दावा कर रही है। यहां अब तक तीन गैंग पकड़ में आ चुके है, जिनमें से एक गैंग भोपाल पुलिस पकड़ चुकी है तो दो गैंग श्योपुर पुलिस अब श्योपुर पुलिस चौथे गैंग की तलाश में हैं।

हां कुछ युवाओं को नौकरी के जरिए सिखाया काम ^हां इनमें से कुछ युवाओं को ठगी का कारोबार नौकरी देने के नाम पर सिखाया गया है। जिसमें यह ठगी के सरगना, इन्हें कॉल लगाकर ग्राहक फंसाकर देने की एवज में कमीशन देते थे। लेकिन उक्त युवाओं ने यह जुर्म जानबूझकर किया है क्योंकि इन्हें पता था कि यह अपराध है। बावजूद इसके इन्होंने ऑनलाइन ठगी को अपना धंधा बना लिया था। संपत उपाध्याय, एसपी, श्योपुर

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें