पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भास्कर लाइव:मरीजाें के इलाज मेंं आड़े आई राज्य की सीमा रेखा, बॉर्डर पर राजस्थान ने बिठा दिया पुलिस का पहरा

श्योपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दो घंटे बाद मूंडला की मुन्नी मीणा और बगडुवा के बुखार पीड़ित बालक के लिए राजस्थान की सीमा में दिया प्रवेश। - Dainik Bhaskar
दो घंटे बाद मूंडला की मुन्नी मीणा और बगडुवा के बुखार पीड़ित बालक के लिए राजस्थान की सीमा में दिया प्रवेश।
  • श्योपुर से सवाई माधौपुर जाने वाली निजी बसों को भी सीमा पर रोका, ढाई किमी पैदल चलकर सीमा पार दूसरी बस पकड़नी पड़ी

राजस्थान के सवाई माधौपुर का प्रशासन श्योपुर के मरीजों पर रहम नहीं कर रहा है। सवाई माधौपुर के सीएमएचओ ने तो पहले ही अपने यहां के डॉक्टरों को आदेश दे दिए हैं कि श्योपुर के मरीजों को इलाज के लिए न बुलाएं। अब मप्र-राजस्थान के बॉर्डर पर भी मरीजों को सवाईमाधौपुर में घुसने पर पाबंदी लगा दी है। शुक्रवार को छह गंभीर मरीजों के परिजन जब गिड़गिड़ाए तब बमुश्किल जाने दिया लेकिन साै से अधिक लोगों को वापस लौटा दिया।

बसें भी सीमा के इस पार यात्रियों को छोड़कर लौट रही हैं। इसके बाद करीब ढाई किमी पैदल चलने के बाद राजस्थान की सीमा में उन्हें दूसरी बस मिलती है। इस मामले में श्योपुर के कांग्रेस विधायक बाबूलाल जंडेल ने राजस्थान के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर मरीजों को न रोकने का आग्रह किया है। लेकिन श्योपुर के स्थानीय प्रशासन ने इस दिशा में कोई प्रयास नहीं किए।

श्याेपुर से ग्वालियर 210 किमी, जयपुर 150 किमी, काेटा 120 किमी और बारां 70 किमी दूरी पर स्थित है। जिले के सैकड़ाें मरीज राेजाना इलाज करवाने सवाई माधाैपुर जाते हैं। लेकिन राजस्थान के जिला प्रशासन ने मध्यप्रदेश के बाेर्डर पर चैक पाेस्ट लगाकर पुलिस का पहरा लगा दिया है। वर्तमान में पाली पुल के पास चैक पाेस्ट पर राजस्थान पुलिस के 10 जवान तैनात हैं। 24 घंटे ड्यूटी पर मुस्तैद सवाई माधाैपुर पुलिस के जवान श्याेपुर से जाने वाले मरीजाें काे बाेर्डर से ही लाैटने काे मजबूर कर रहे हैं। सुबह हाई ब्लड प्रेशर,शुगर एवं खून की उल्टी की शिकायत से पीड़ित चार मरीजाें की हालत बिगड़ने पर मध्यप्रदेश पुलिस की मदद से उन्हें सवाई माधाैपुर जाने की परमिशन मिली। जबकि एक सैकड़ा से ज्यादा लाेगाें काे राजस्थान की बाॅर्डर से वापस श्याेपुर लाैटा दिया गया।

चार गंभीर मरीजाें काे हमने राजस्थान पुलिस की चैक पाेस्ट से एंट्री करवाई
श्याेपुर जिले के तमाम मरीजाें काे इलाज के लिए सवाई माधाैपुर ले जाने के लिए उनके परिजन सुबह से दिनभर परेशान हाेते रहे। इनमें हाई ब्लड प्रेशर,खून की उल्टी अाैर शुगर की बीमारी से गंभीर हालत में चार मरीजाें काे हमने राजस्थान पुलिस की चैक पाेस्ट पर जाकर सवाई माधाैपुर के लिए एंट्री दिलवाई। जबकि इस दाैरान सामान्य मरीज तथा शादी विवाह मेें शामिल हाेने जा रहे लगभग एक सैकड़ा लाेगाें काे राजस्थान बाेर्डर से वापस लाैटा दिया गया।
दिलीप शर्मा, सामरसा चाैकी प्रभारी श्याेपुर

निजी बसें प्रतिबंधित... ढाई किमी पैदल चल रहे यात्री
लॉकडाउन के कारण श्याेपुर से सवाई माधाैपुर, टाेंक एवं जयपुर के बीच चलने वाली राजस्थान राेडवेज बसाें का संचालन बंद है। सिर्फ श्याेपुर और सवाई माधाैपुर के बीच निजी यात्री बसाें के बाेर्डर क्राॅस करने पर भी राेक लगा रखी है। श्याेपुर से सवाई माधाैपुर जाने वाले बस यात्रियाें काे मध्यप्रदेश की सीमा पर स्थित सामरसा पुलिस चाैकी पर उतार रहे हैं। उधर सवाई माधाैपुर की तरफ प्राइवेट बसें 17 मील तक आ रही है। इसलिए 17 मील और सामरसा चाैकी के बीच करीब ढाई किलाेमीटर दूरी यात्रियाें काे पैदल तय करनी पड़ रही है। निजी बसाें में यात्रा करने वाले सैकड़ाें लाेग शुक्रवार काे सफर में पैदल चलने की मजबूरी से परेशान हुए। पति मनोज गुप्ता व दाे बच्चाें के साथ श्याेपुर से सवाई माधाैपुर जा रही मधुमिता गुप्ता ने बताया कि बस स्टैंड पर उन्हें इस बारे में जानकारी नहीं दी गई। टिकट काटते समय कंडेक्टर ने कहा कि बस ठेठ सवाई माधाैपुर नहीं जाएगी।

अब राजनीति भी शुरू... विधायक ने राजस्थान व मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री को पत्र लिखा
इस मामले में राजनीति भी हाे रही है। श्याेपुर से कांग्रेस विधायक बाबू जंडेलसिंह मीणा गुरुवार काे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से चर्चा की। कमलनाथ ने विधायक जंडेल काे पत्र लिखने की सलाह देने के साथ ही खुद भी राजस्थान के मुख्यमंत्री से बात करके जल्द समाधान निकालने की बात कही। इसके बाद विधायक जंडेल ने शुक्रवार काे राजस्थान के मुख्यमंत्री अशाेक गहलाेत व मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह काे पत्र फैक्स करके श्याेपुर जिले के मरीजाें काे सवाई माधाैपुर में इलाज पर लगी राेक तत्काल प्रभाव से हटवाने का आग्रह किया।

वहीं कांग्रेस जिलाध्यक्ष अतुल चाैहान ने भी एक पत्र कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ काे भेजकर राजस्थान सरकार से हस्तक्षेप करके सवाई माधाैपुर में इलाज में बना गतिराेध दूर करवाने का आग्रह किया है। वहीं दूसरी तरफ इलाज काे तरसते मरीजाें की इस समस्या काे लेकर जिले का स्वास्थ्य महकमा उदासीन बना हुआ है। प्रशासन द्वारा इस दिशा में काेई सार्थक पहल िकए जाने की जानकारी सामनें नहीं आई है।

खबरें और भी हैं...