पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीबी मरीजों से मिलकर की पूछताछ:टीबी मरीजों को इलाज मिला या नहीं, यह जांचने आई टीम

श्योपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अभी तीन दिन और रहेगी टीम

जिले को टीबी में बेस्ट काम करने पर नेशनल अवार्ड के लिए नामांकित होने के बाद पूर्व डब्ल्यूएचओ की टीम श्योपुर में टीबी मरीजों से उन्हें मिले ईलाज और पोषण राशि समय पर पहुंची या नहीं ऐसे ही तमाम सवालों के जवाब जानने के लिए पहुंची है। सोमवार को डब्ल्यूएचओ की टीम ने विजयपुर के ग्रामीण ईलाकों का भ्रमण करते हुए ऐसे ही सवालों की हकीकत जानी है। डब्ल्यूएचओ की टीम तीन दिनों तक श्योपुर में रहेगी। दरअसल श्योपुर टीबी के मरीजों को ढूंढने, उन तक इलाज पहुंचाने के साथ-साथ निक्षण पोषण राशि पहुंचाने में प्रदेश में लगातार अव्वल बना हुआ है।

मप्र में लगातार अव्वल रहने के साथ अब राष्ट्रीय पुरुस्कार के लिए श्योपुर जिले को नामांकित किया गया है। ऐसे में विश्व स्वास्थ्य संगठन के द्वारा श्योपुर में जिले में टीबी के मरीजों को मिलने वाले ईलाज और अन्य सुविधाओं की जानकारी और हकीकत जानने के लिए डॉ. विकास सवरवाल और डॉ. संकल्प राय चौधरी के साथ चार सदस्यीय दल को श्योपुर भेजा है।

टीम मरीजों के घर जाकर उनसे इलाज, इलाज के दौरान मॉनीटरिंग, निक्षय पोषण राशि, मरीजों को दवा की उपलब्धता, मरीजों को दिए गए कार्ड में भरी गई जानकारी को क्रॉस चेक कर रही है। सोमवार को इस टीम ने विजयपुर के गांवों में जाकर मरीजों से जानकारी ली है। टीम अभी तीन दिनों तक और श्योपुर में रह सकती है।

खबरें और भी हैं...