• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Sheour
  • There Is No Smell And Taste In The First Wave, Cough In The Second And Body And Headache In This Wave Are The Main Symptoms.

कोरोना:पहली लहर में गंध व स्वाद नहीं आना, दूसरी में खांसी और इस लहर में बदन एवं सिर दर्द है मुख्य लक्षण

श्योपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में एक पखवाड़े में कोरोना का शतक लगने से लोगों को डरा रहा है सामान्य सर्दी जुकाम

काेविड के नए वैरिएंट में मरीजाें के लक्षणाें में भी बदलाव देखा जा रहा है। श्योपुर में जिले में एक पखवाड़े में पॉजिटिव मरीजों का अनचाहा शतक पूरा हो चुका है। हालांकि रविवार राहतभरा रहा और इस दिन कोई नया केस नहीं आया। लेकिन लैब पर 40 से अधिक मरीजों का रिजल्ट रोका गया है। ऐसे में सोमवार को एक बार फिर कोरोना का विस्फोट हो सकता है। श्योपुर में शनिवार को 5 संक्रमित मरीजों के साथ आंकड़ा 100 पर पहुंच गया। अभी 98 एक्टिव केस हैं। तीसरी लहर में नए साल की पहली तारीख को कोरोना का पहला मरीज मिला था।

इसके बाद मरीजों की संख्या एक ही दिन में दहाई का आंकड़ा छूने लगी। सबसे ज्यादा गत शुक्रवार को एक ही दिन में 32 केस निकले। कोरोना की रफ्तार बेकाबू होने से अब लोगों को सामान्य सर्दी जुकाम व खांसी भी डराने लगी है। लगातार मरीज डाॅक्टराें से संपर्क कर रहे हैं। वहीं डॉक्टरों का कहना है कि ऐसे में लोगों को बिल्कुल भी घबराने की जरूरत नहीं है। कोरोना संक्रमण की दर भले ही तेजी से बढ़ती जा रही है,लेकिन अभी तक कोई मरीज गम्भीर अवस्था में नहीं आया है। विशेषज्ञ का मानना है कि वैरिएंट के साथ कोरोना का मिजाज भी बदला है।

पहली लहर में जहां सुगंध व स्वाद न आना सबसे बड़ा और सामान्य लक्षण था, वहीं दूसरी लहर में लोगों को तेज खांसी और सांस लेने में तकलीफ मुख्य लक्षण था। जबकि इस तीसरी लहर में दस्त, बदन दर्द और हल्का सिर दर्द सबसे प्रमुख लक्षण सामने आया है। इस बार किसी भी राेगी में काेविड के पूर्ण लक्षण नहीं मिल रहे हैं। मसलन किसी रोगी में जुकाम है ताे बुखार नहीं, किसी में खांसी है ताे जुकाम नहीं लेकिन जांच कराएं। ओर इसमें लापरवाही बिलकुल नहीं करनी चाहिए।

शुक्र है अभी तक कोई सीरियस केस नहीं
जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ना चिंताजनक है,लेकिन शुक्र है कि अभी तक कोई सीरियस केस नहीं है। 10 बेड के गंभीर कोविड मरीजों के आईसीयू वार्ड में किसी मरीज को भर्ती करने की जरूरत नहीं पड़ी है। वैक्सीनेशन के प्रभाव से इस बार ज्यादातर लोगों में काेविड के प्रति इम्युनिटी आ चुकी है। ज्यादातर मरीज को बदन व हल्के सिर दर्द की शिकायत हैं। सामान्य लाक्षणिक उपचार से यह ठीक हाे रहे हैं। डॉ बीएल यादव,मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, श्योपुर

खबरें और भी हैं...