• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Shivpuri
  • 67 Thousand Fine On Three Fisheries Officers, State Information Commissioner Took Action After The Initiative Of Retired Officer Of Shivpuri

जुर्माना:तीन मत्स्य अफसरों पर 67 हजार का जुर्माना, शिवपुरी के रिटायर्ड अफसर की पहल के  बाद राज्य सूचना आयुक्त ने की कार्रवाई

शिवपुरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • शिवपुरी के रहने वाले रिटायर मत्स्य अधिकारी ने आरटीआई के तहत जानकारी मांगी थी

सूचना का अधिकार अधिनियम के तहत जानकारी नहीं देने पर राज्य सूचना आयुक्त ने मत्स्य विभाग के तीन अफसरों पर 67 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है। तीन में से एक अधिकारी हरदा जिले में पदस्थ हैं और शेष दो दतिया जिले में पदस्थ हैं। शिवपुरी के रहने वाले रिटायर मत्स्य अधिकारी ने आरटीआई के तहत जानकारी मांगी थी। जानकारी के मुताबिक मत्स्य विभाग से सेवानिवृत्त महेंद्र कुमार दुबे ने मत्स्य विभाग दतिया से आरटीआई के तहत 4 फरवरी 2014 को आवेदन लगाकर दस्तावेज मांगे थे। लेकिन तत्कालीन लोक सूचना अधिकारियों ने संबंधित दस्तावेज उपलब्ध होने से साफ इनकार कर दिया है। मामला राज्य सूचना आयोग में पहुंचा।

यहां भी दस्तावेज गायब होने के संबंध में जवाब दिया तो राज्य सूचना आयुक्त ने 26 जनवरी 2016 को एफआईआर के आदेश दिए। एफआईआर से बचने के लिए दस्तावेज मिलने की बात सामने आई और केस दर्ज होने से बच गया। लेकिन गुमराह करने पर राज्य सूचना आयुक्त ने 28 अगस्त 2021 को आदेश जारी किया है। जिसमें सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 की धारा 20(1) के तहत तत्कालीन लोक सूचना अधिकारी एवं एवं सहायक मत्स्य अधिकारी नितिन वर्मा पर 25 हजार रुपए, सहायक मत्स्य अधिकारी मत्स्य दतिया राजेश कुमार पाठक पर 17 हजार रुपए और सहायक संचालक मत्स्य दतिया अनिल अवस्थी पर 25 हजार रुपए का अर्थदंड अधिरोपित किया है। इनमें नितिन वर्मा हरदा व राजेश व अनिल अवस्थी दतिया में पदस्थ हैं। एमके जैन ने बताया कि जुर्माने संबंधी कार्रवाई की कॉपी में 6 दिसंबर 2021 को मिली है। दरअसल नितिन वर्मा व अनिल अवस्थी ने राज्य सूचना आयुक्त द्वारा लगाए जुर्माने को लेकर हाईकोर्ट ग्वालियर में याचिका दायर की है।

खबरें और भी हैं...