पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जन संकल्प से हारेगा कोरोना:वैक्सीनेशन से पहले एक ही परिवार के 7 सदस्यों ने किया रक्तदान

शिवपुरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भारत विकास परिषद से जुड़ी भारती और उनका परिवार रक्तदान करता हुआ। - Dainik Bhaskar
भारत विकास परिषद से जुड़ी भारती और उनका परिवार रक्तदान करता हुआ।
  • टीका लगने के 6 माह तक नहीं किया जा सकता रक्तदान, इसलिए आगे आकर की पहल

किसी को रक्तदान करने इतना अधिक उत्साहित देखा है कि घर को ही ब्लड बैंक बना दिया हो। जी हां, ऐसी ही जिजीविषा दिखाई भारत विकास परिषद के सदस्यों ने। जिन्होंने टीकाकरण कराने से पहले दुर्घटना या आवश्यकता पड़ने पर किसी को रक्त की रक्त की कमी से उसकी मृत्यु न हो जाए इसलिए एक ही परिवार के 7 सदस्यों ने रक्तदान किया। क्योंकि टीकाकरण कराने के बाद 6 महीने तक वह रक्तदान नहीं कर सकते थे इस वजह से उन्होंने इस बेहतर पहल को अंजाम दिया।

शहर के विवेकानंद कॉलोनी के पास निवासरत भारत विकास परिषद से जुड़ी भारती चावला और उनके परिवार के सदस्यों ने तय कर लिया था कि वह वैक्सीन लगवाने से पहले अपना रक्तदान करेंगे, ताकि कोई दुर्घटना ग्रस्त मरीज को समय रहते खून मिल जाए और वह रक्त की कमी से मृत्यु का ग्रास ना बने। इसीलिए परिवार के सदस्यों ने आर्य समाज मंदिर पर आयोजित होने वाले रक्तदान शिविर में शामिल होकर रक्तदान करने का संकल्प लिया। लेकिन कोरोना कर्फ्यू और अन्य परेशानियों के चलते शिविर का आयोजन नहीं हो सका। क्राइसिस समूह सदस्य समीर गांधी से कहा कि वह घर पर शिविर का आयोजन कराएं ताकि एक साथ सभी लोग रक्तदान कर सकें। इस संबंध में एक पत्र सिविल सर्जन डॉक्टर राजकुमार ऋषिश्वर को दिया तो उन्होंने ब्लड बैंक टीम को घर भेज कर 7 यूनिट रक्तदान एकत्रित किया।

पति-पत्नी, भाई-भाभी और भतीजे ने किया रक्तदान
आरती चावला की पहल पर आयोजित हुए रक्तदान शिविर में सबसे पहला रक्तदान उन्हीं ने किया। इसके बाद देवर-देवरानी अशोक, ज्योति, भाई गगनदीप, बेटे देव चावला ने भी रक्तदान किया। भतीजे हिमांशु नागपाल और ऋषभ नागपाल भी रक्तदान से पीछे नहीं हटे और एक-एक यूनिट रक्तदान किया। कुल मिलाकर सदस्यों ने 7 यूनिट रक्तदान कर समाज में संदेश दिया।

खबरें और भी हैं...