पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

शिवपुरी में हत्याकांड:शादीशुदा महिला को भगाने से नाराज ससुराल-मायके वालाें ने प्रेमी के घर पर की फायरिंग, बड़े भाई की हत्या, 6 लोग घायल

शिवपुरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुरवाया के गांगुली गांव में गोली चलने के बाद घायलों को इलाज के लिए जिला अस्पताल लाए।
  • हथियारों से लैस होकर आए हमलावरों ने की अंधाधुंध फायरिंग, ग्रामीण एकजुट हुए तो भागे
  • प्रेमी की भाभी, बहनोई और चचेरा भाई गंभीर हालत में ग्वालियर रैफर, खुद प्रेमी भी घायल

एक शादीशुदा महिला घर से भागकर सुरवाया थाना क्षेत्र के गांगुली गांव में अपने प्रेमी के संग रहने लगी। इससे नाराज उसके ससुराल और मायके पक्ष के लोग गुरुवार की दोपहर हथियार लेकर गांव में पहुंचे और प्रेमी व उसके परिवार पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। फायरिंग में प्रेमी युवक के बड़े भाई की मौत हो गई जबकि प्रेमी युवक सहित छह लोग घायल हो गए। गंभीर हालत में तीन घायलों को जिला अस्पताल से ग्वालियर रैफर किया गया है। वहीं फायरिंग के बाद आरोपी फरार हो गए।

जानकारी के मुताबिक सेवाराम (30) पुत्र पंजाबसिंह गुर्जर निवासी ग्राम गांगुली गुरुवार की दोपहर 12.30 से 1 बजे के बीच अपने परिवार के संग घर पर बैठा था। अचानक 20-22 लोग गाड़ियों से आए और अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। बंदूकें चलने की आवाज से गांव में दहशत फैल गई। गांव के लोगों ने हिम्मत जुटाई तो आरोपी गाड़ियों से भाग निकले। गोलीबारी में सेवाराम गुर्जर के बड़े भाई राजमहेंद्र (34) की मौत हो गई।

वहीं गोलियां लगने से उसकी भाभी मंजेश गुर्जर (30) पत्नी केशव गुर्जर, बहनोई मनीराम (32) पुत्र सीताराम गुर्जर और चचेरा भाई राजवीर (30) पुत्र कप्तान गुर्जर गंभीर रूप से घायल हो गए। फायरिंग में सेवाराम के पैर में भी छर्रे लगे हैं और चचेरा भाई अनूप (25) पुत्र कप्तान गुर्जर और भतीजा बलराम (16) पुत्र नंदकिशोर गुर्जर भी घायल है। सूचना पर सुरवाया थाना पुलिस गांगुली गांव पहुंची और घायलों काे जिला अस्पताल में भर्ती कराया। गंभीर हालत के चलते मंजेश गुर्जर, मनीराम गुर्जर और राजवीर गुर्जर को ग्वालियर रैफर किया गया है। सबसे ज्यादा गंभीर हालत राजवीर की बताई जा रही है। सेवाराम ने अचानक हुए इस हमले के पीछे की वजह अपना प्रेम प्रसंग बताया है। वह हमलावरों में से सिर्फ अपनी प्रेमिका के भाई भरत गुर्जर का नाम बता पाया।

ससुराल वाले मारपीट करते थे, मायके में रह रही थी वर्षा
बताया जा रहा है कि छिरारी के खुटैला निवासी वर्षा गुर्जर की शादी चार साल पहले नयाखेड़ा गांव में हुई थी लेकिन ससुराल में मारपीट से परेशान होकर वर्षा अपने मायके खुटैला में आकर रहने लगी थी। सेवाराम डंपर चलाता था और अविवाहित था। सेवाराम का खुटैला में वर्षा के घर आना जाना रहता था। यहीं से दोनों की पहचान हुई और एक-दूसरे से प्रेम हो गया। मोबाइल पर दोनों की बातचीत होने लगी थी।

वर्षा भागकर गांगुली गांव आई और सेवाराम के संग रहने लगी
छिरारी पंचायत के मजरा खुटैला की रहने वाली वर्षा गुर्जर (25) पुत्री बहादुर गुर्जर तीन सप्ताह पहले सिलागनर पहुंची और यहां से भागकर गांगुली गांव आ गई। सेवाराम गुर्जर ने बताया कि वर्षा गुर्जर उसकी पहले से परिचित थी। दोनों में प्रेम हो गया और इसी कारण वह पत्नी बनकर उसके संग रहने लगी। इधर मायके वालों ने अमोला थाने में गुमशुदगी दर्ज करा दी थी। पुलिस ने बरामद किया तो वर्षा ने बयान दिया कि वह अपने प्रेमी सेवाराम के संग रहना चाहती है। इस पर गुस्साए मायके पक्ष और ससुराल पक्ष के लोगों ने एकराय होकर गुरुवार को गांगुली गांव आकर हमला कर दिया।

वर्षा को उठाकर ले जाना चाहते थे, लेकिन गांव वालों ने खदेड़ दिया
ससुराल और मायके पक्ष के लोग सेवाराम सहित उसके परिवार की हत्या कर वर्षा को उठाकर ले जाने के लिए आए थे। जैसे ही फायरिंग हुई, गांव के लोग इकट्‌ठा होकर बचाने के लिए दौड़े। यह देखकर फायरिंग के बाद हमलावर भाग निकले। गांव वाले नहीं आते तो आरोपी सभी की हत्या कर वर्षा को भी उठाकर ले जाते। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए सुरवाया के साथ-साथ अमोला, करैरा और भौंती थाना पुलिस को जंगल में सर्चिंग के लिए उतार दिया गया है।

आरोपियों को पकड़ने के लिए दबिश दी जा रही है
प्रेम प्रसंग के चलते युवती गांगुली गांव में प्रेमी के यहां रहने लगी थी। गुरुवार को उसके ससुराल व मायके वाले गाड़ियाें से आए और सेवाराम सहित उसके परिवार पर जानलेवा हमला कर दिया जिसमें सेवाराम के भाई की मौत हो गई और परिवार के दूसरे लोग घायल हैं। घटना के बाद आरोपी फरार हो गए हैं, गिरफ्तारी के लिए आसपास के थानों की पुलिस सर्चिंग में उतार दी है।
गजेंद्र सिंह कंवर, एडिशनल एसपी, शिवपुरी

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें