पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आयोजन:आओ हम मिल सभी एक ऐसा गीत गाएं जिसे गा सकें हवाएं, जिसे सुन...

शिवपुरी11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

आओ हम मिल सभी एक ऐसा गीत गाएं जिसे गा सकें हवाएं, जिसे सुन सकें फिजाएं। इस तरह के अनेक राष्ट्रीय एकता और सांप्रदायिक सदभाव को कायम रखने वाले गीतोें के रचयिता स्वर्गीय घासीराम जैन चंद्र कवि के इस गीत को याद करते हुए उनके बेटे डॉ. एचपी जैन ने सुनाया तो आयोजन में तालियां गूंज गईं। दरअसल जिले के साहित्यकारों ने मिलकर यादे पवन के नाम से साहित्यकारों की स्मृति में कार्यक्रम का आयोजन किया जिसमें स्वर्गीय घासीराम जैन चंद्र कवि, साहित्यकार हरि उपमन्यु, स्वर्गीय रामचरण लाल दंडोतिया, स्वर्गीय रफाकत अली शाद, स्वर्गीय रामकुमार चतुर्वेदी चंचल व स्वर्गीय विद्यानंदन राजीव की स्मृति में उनका पुण्य स्मरण कर पौधरोपण किया। कवियों ने कहा कि उनकी कविता को यह जहां कभी नहीं भूलेगा और यह लगाए गए पौधे वातावरण में उनकी मधुर याद को सदा जीवंत रखेंगे।

खबरें और भी हैं...