खाद की कालाबाजारी:​​​​​​​शिवपुरी के बैराड़ में ब्लैक में बिक रही डीएपी खाद कैमरे में कैद

शिवपुरी10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिकायती पत्र। - Dainik Bhaskar
शिकायती पत्र।

शिवपुरी जिले में किसान खाद के लिए परेशान हैं और व्यापारी डीएपी व यूरिया की कालाबाजारी कर न सिर्फ किसान का शोषण कर रहे हैं, बल्कि प्रशासनिक अधिकारियों को भी खुली चुनौती पेश कर रहे हैं। प्रशासन भले ही खाद की कालाबाजारी रोकने के लाख दावे करे, लेकिन वास्तविकता में जिले भर में खुलकर खाद की कालाबाजारी की जा रही है।

खाद की इस कालाबाजारी से परेशान होकर भारतीय किसान संघ से जुड़े एक किसान ने बैराड़ में धोरिया रोड पर स्थित एक खाद व्यापारी को 1205 रुपए का डीएपी खाद का कट्टा 1450 रुपए में ब्लैक करते हुए कैमरे में रिकॉर्ड कर लिया।

यह बेची जा रही ब्लैक में खाद।
यह बेची जा रही ब्लैक में खाद।

बैराड़ में धोरिया रोड स्थित विकास ट्रेडर्स के संचालक से जब किसान ने 1300 रुपए में खाद देने की बात कही तो व्यापारी ने स्पष्ट रूप से कहा कि 1300 क्या 1400 रुपए में भी खाद नहीं मिलेगा, क्योंकि 1450 रुपए में तो लाइन लगकर बिक रहा है।

खास बात यह है कि मामले की शिकायत जिम्मेदारों को भी कर दी गई है। बावजूद इसके मामले में अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। प्रशासन से जुड़े विश्वसनीय सूत्रों की मानें तो व्यापारी खुद को क्षेत्रीय विधायक व राज्यमंत्री सुरेश राठखेड़ा का नजदीकी बताता है।

चाहे जितने लो 1450 रुपए से कम नहीं मिलेगा

व्यापारी से जब यह जानने का प्रयास किया कि अगर ज्यादा कट्टे लें तो क्या रेट कम हो सकती है, तो व्यापारी का स्पष्ट रूप से कहना था कि चाहे जितने कट्टे ले लो 1450 रुपए से एक रुपए कम नहीं होगा।

भारतीय किसान संघ के संभागीय अध्यक्ष कल्याण सिंह यादव ने हम लगातार अधिकारियों को शिकायत कर रहे हैं कि व्यापारी खाद की कालाबाजारी कर किसानों का शोषण कर रहे हैं, लेकिन अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं।