पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नजर कमजोर:मोबाइल के अधिक उपयोग ने बच्चों की नजर कमजोर हो सकती है, संभल जाइए: डॉ. दिनेश

शिवपुरी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डॉक्टर बोले- मोबाइल-कंप्यूटर का 20 मिनट उपयोग के बाद 20 सेकेंड का ब्रेक जरूर लें

मोबाइल के अधिक उपयोग ने बच्चों की आंखों को कमजोर बना दिया है। जबसे लॉकडाउन लगा है बच्चे मोबाइल और कंप्यूटर का उपयोग ज्यादा कर रहे हैं और इनके अधिक उपयोग से यह खतरा उत्पन्न हुआ है। यदि ऑनलाइन पढ़ाई का तरीका ऐसे ही चलता रहा तो इससे बच्चों की नजर जल्द कमजोर होगी।

इससे बचाव का तरीका यही है कि कम से कम मोबाइल का उपयोग करें और लंबा उपयोग कर रहे हैं तो हर 20 मिनिट के बाद कम से कम 20 सैकेंड का पॉज अवश्य लें। यह बात जिला चिकित्सालय के नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. दिनेश अग्रवाल ने ईस्टर्न हाईटस में आयोजित नेत्र रोग परीक्षण शिविर के दौरान बच्चों और उनके अभिभावकों को दी।

डॉ दिनेश अग्रवाल ने बताया कि बच्चों की आंख परीक्षण करने के दौरान पाया कि लगातार मोबाइल और कंप्यूटर से उनकी आंखें एकटक लगी रहती है। ऐसे में आवश्यक है कि नेत्र पलकों के झपकाने का प्रयोग करते रहे। जिससे वह नेत्र रोग से ग्रसित होने से बचें। आजकल छोटे-छोटे कई बच्चों में आंखों की सुरक्षा के लिए चश्मे की आवश्यकता महसूस हो रही है।

जिसमें कई बच्चों को उनके द्वारा नेत्र रोग से बचाव के लिए चश्मा बनाकर दिया जा रहा है। यह सब दर्शाता है कि हम नेत्र रोग से बचें और थोड़ी सी सावधानी से हम प्रकृति के इन अनमोल उपहार को बचाएं। इस दौरान उनके नि:शुल्क सेवा कार्य के लिए ईस्टर्न हाईट्स के सुबोध अरोरा ने उनका आभार ज्ञापित किया।

नियमित परीक्षण कराएं
अभिभावकों से उन्होंने कहा- कोरोना काल में यदि आवश्यक ऑनलाइन शिक्षा है तो जरूरी है बच्चों की आंखों का नियमित परीक्षण और उपचार कराएं। ताकि बच्चों की आंखों में परेशानी न हो।

खबरें और भी हैं...