पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

उलझन में किसान:त्वेरा खरपतवार मिला चना गोदाम पर नहीं लिया ताे सोसायटियों ने खरीदी ही कर दी बंद

शिवपुरी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • खनियांधाना की तहसील से भी 150 किसान घर चले गए

खनियांधाना तहसील की मुहारी और गूडर सोसायटी से खरीदकर भंडारण के लिए ट्रकों से भेजा 1 हजार क्विंटल से अधिक चना नेफेड ने रिजेक्ट कर वापस भेज दिया है। खराब माल को छानकर भंडारण के लिए भेजने की शर्त पर सोसायटियों ने खरीदी ही बंद कर दी है। इससे किसान अपना चना समर्थन मूल्य पर नहीं बेच पा रहे हैं। एसएमएस पहुंचने पर सोसायटी पर पहुंच रहे किसानों को मायूस होकर वापस लौटना पड़ रहा है। तीनों सोसायटियों से बीते दिन में करीब 600 से ज्यादा किसान अपना चुना सोसायटियों पर नहीं तुलवा पाए हैं। जिससे प्रदेश सरकार की समर्थन मूल्य खरीदी पर ही सवाल उठने लगे हैं। खनियांधाना मंडी में सेवा सहकारी संस्था मुहारी पर किसानों से खरीदा गया 2 ट्रक चना भंडारण के लिए शिवपुरी जिला मुख्यालय पर भेजा था। एक ट्रक 21 मई और दूसरा ट्रक 22 मई को रिजेक्ट कर दिया। मुहारी सोसायटी का 620 क्विंटल चना नाफेड ने नोन एफएक्यू बताकर रिजेक्ट कर दिया है। इसी तरह दूसरी सेवा सहकारी संस्था गूडर का भी 320 क्विंटल का ट्रक शिवपुरी से खनियाधाना लौटा दिया है। बदरवास तहसील के रन्नौद कस्बे में सेवा सहकारी संस्था रन्नौद द्वारा खरीदा गया 120 क्विंटल चना वापस लौटा दिया है। इस तरह करीब 1 हजार 60 क्विंटल चना लौटा दिया है। जिससे तीनों ही सोसायटियों ने पिछले तीन दिनों से किसानों का चना खरीदना बंद कर दिया है। नाफेड के इस कदम के बाद जिला प्रशासन भी कुछ नहीं कर पा रहा है। प्रदेश सरकार स्तर से भी अभी तक कोई ध्यान नहीं दिया है। जिससे तीन दिन में 600 सौ से ज्यादा किसान वापस उपज लेकर घर लौट गए हैं। 

मुहारी सोसायटी प्रबंधक बोले-ऐसे तो हम मर जाएंगे

मुहारीकला सोसायटी प्रबंधक देवीलाल लोधी ने बताया कि किसानों से 2 हजार क्विंटल चना खरीदकर रख लिया है। गुुरुवार को एक ट्रक शिवपुरी भेजा था जिसे लौटा दिया और शुक्रवार को भी दूसरा ट्रक रिजेक्ट करके लौटा दिया। यहां आ रहे सारे किसानों के चने में त्वेड़ा है, जिसे छलना लगाने पर भी नहीं निकाल सकते। खरीदा गया चना भंडारित नहीं किया तो हम तो मर जाएंगे। 

रन्नौद : बिल्टी गड़बड़ थी, चने में दाल व त्वेरा होने पर लौटाया 
भंडारण के लिए रन्नोद सोसायटी से 120 क्विंटल चना शिवपुरी भेजा था। नाफेड सर्वेयर ने बिल्टी में गड़बड़ी के चलते वापस लौटा दिया। साथ ही उक्त चने में दाल और त्वेरा मिला हुआ था। इस कारण वापस लौटा दिया है। नेफेड सर्वेयरों का कहना है कि हर सोसायटी पर 4एमएम का छलना है, फिर भी बिना साफ किए चना खरीद रहे हैं। जिससे मजबूरी में रिजेक्ट करना पड़ रहा है।  

पिछले साल 1% तक छूट थी, इस बार नेफेड 0% के आधार पर चना खरीद रही
पिछले साल चना 1% नोन एफएक्यू छूट के साथ खरीदा गया था। लेकिन इस साल नेफेड ने 0% एफएक्यू कर दिया है। जबकि चने के रूप में खरपतवार (त्वेरा) भी साथ आ रहा है। जो 0.5% है और चने का आकार छोटा होने के साथ दाल भी आ रही है। इस कारण अधिकांश चने को रिजेक्ट किया जा रहा है। जिले में अभी तक 7 हजार क्विंटल ही चना खरीदी दर्ज हो सकी है। 
नेफेड ने माल रिजेक्ट किया है, सोसायटियों से साफ कराने को कहा है 
नारायण शर्मा, जिला खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी शिवपुरी के मुताबिक,  मुहारी और गूडर सोसायटी का चना नेफेड द्वारा रिजेक्ट किया गया है। नेफेड ही खरीदे गए चने का भुगतान करती है। जिन सोसायटी के चने को रिजेक्ट किया है, उनसे चना साफ करके भंडारण के लिए भेजने को कहा है। किसानों से नोन एफएक्यू चना खरीदना है या नहीं, यह मामला केंद्र सरकार स्तर का है। 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें