पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मोरई के जंगल में औजार छोड़कर भागा माफिया:अर्जुनगवां और खैरोना बीट में अवैध फर्शी पत्थर उत्खनन रोकने एक साथ चार रेंज का स्टाफ कार्रवाई करने पहुंचा

शिवपुरी7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

वन परिक्षेत्र शिवपुरी स्थित मोरई जंगल में अवैध फर्शी पत्थर उत्खनन कर रहे माफिया के खिलाफ कार्रवाई करने वन टीम पहुंची। लेकिन कार्रवाई की भनक लगने पर माफिया अवैध खदानों में छैनी हथोड़ा व उत्खनन का अन्य सामान छोड़कर भाग निकला। मौके पर निकले फर्शी पत्थर को नष्ट कर दिया है। शिवपुरी रेंज, पोहरी, बदरवास, सतनवाड़ा के रेंज अधिकारी और स्टाफ ने शिवपुरी की अर्जुनगवां और खैरोना बीट के कक्ष क्रमांक 53 और 630 में दबिश दी।

लेकिन कहीं ना कहीं वन विभाग के किसी सूत्रधार के जरिए माफिया को भनक लग गई। वन टीम कार्रवाई करने पहुंची तो गड्ढों में तसले, फावड़ा एवं छैनी हथौड़े मिले हैं, जिससे स्पष्ट होता है कि टीम के आने से पहले माफिया अवैध उत्खनन चल रहा था। गश्त में वन क्षेत्र में उत्खनन के लगभग 12 गड्ढे मिले हैं, जिनमें से कुछ में बरसात का पानी भरा है। मोरई खदान एवं मंदिर वाली खदान के बड़े गड्ढों में उत्खनन करने के संकेत मिले हैं। उत्खनन कर परिवहन के लिए रखा पत्थर वन स्टाफ ने मौके पर ही तोड़ कर नष्ट कर दिया है।

अज्ञात लोगों पर वन अपराध दर्ज, बड़ौदी क्षेत्र की पत्थर फैक्ट्रियों की भी चैकिंग की: मौके से फरार अज्ञात उत्खननकर्ता के खिलाफ वन अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया है। स्टाफ ने ग्रामीणों को हिदायत दी कि पत्थर के अवैध उत्खनन करते मिले तो कार्रवाई की करेंगे। ग्रामीणों ने बताया कि उक्त गड्ढों में स्थानीय निस्तार की आवश्यकता के लिए कुछ लोग उत्खनन करते हैं। बड़ौदी क्षेत्र के पत्थर मिल मालिकों द्वारा अवैध फर्शी पत्थर खरीदने की सूचनाएं मिलने पर गश्ती दल ने पत्थर फैक्ट्री एरिया में निरीक्षण किया। फैक्ट्री मालिकों एवं उनके स्टाफ को हिदायत दी है कि पत्थर के स्टाक का पूरा लेखा-जोखा रखें और किसी भी प्रकार के अवैध पत्थर को ना खरीदें। यदि कोई पत्थर फर्शी बगैर रॉयल्टी मिला तो कार्रवई करेंगे।

खबरें और भी हैं...