पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही से मरीज की मौत:ऑक्सीजन बेड ढूंढने में आधा घंटा लगा दिया, इलाज में देरी से शिक्षक ने एंबुलेंस में दम तोड़ा

शिवपुरी4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भर्ती होने के इंतजार में शिक्षक धर्मेंद्र खरे ने एंबुलेंस में दम तोड़ दिया। - Dainik Bhaskar
भर्ती होने के इंतजार में शिक्षक धर्मेंद्र खरे ने एंबुलेंस में दम तोड़ दिया।
  • शिक्षक की पल्स कम होने जाने पर जिला अस्पताल से मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल रेफर किया था

ऑक्सीजन बेड ढूंढने में आधा घंटे से ज्यादा देर हो गई और मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल की चौखट पर खड़ी एंबुलेंस में इलाज का इंतजार कर रहे शिक्षक ने दम तोड़ दिया। शिक्षक की मौत के लिए भाई ने मेडिकल कॉलेज प्रबंधन की लापरवाही बताया है। शिक्षक धर्मेंद्र खरे को जिला अस्पताल शिवपुरी से मेडिकल काॅलेज हॉस्पिटल रेफर किया था।

वहीं नगर पालिका शिवपुरी के इंजीनियर के बेटे और ग्वालियर में निजी स्कूल संचालक की मौत हो गई है। खनियांधाना निवासी शिक्षक धर्मेंद्र खरे (40) पुत्र डीपी खरे की गंभीर हालत के चलते मंगलवार की सुबह 8:30 बजे के बाद मेडिकल कॉलेज रेफर किया था। एंबुलेंस से पहुंचे तो सीधे भर्ती नहीं किया और बेड ढूंढकर बताने की कहकर उलझाए रखा। पर्चा भरवाने की औपचारिकता में भी समय लगा दिया, तब तक 9:30 बज चुके थे।

इधर शिक्षक धर्मेंद्र ने इलाज के इंतजार में एंबुलेंस में ही दम तोड़ दिया। मौत से पहले रेफर करने में भी एक से डेढ़ घंटे का समय लगा दिया था। भाई बंटी खरे का कहना है कि गंभीर हालत को देखकर हमने मेडिकल कॉलेज रेफर करने की बात कही।

एंबुलेंस तक ले जाने के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर नहीं मिला। डॉक्टर कहने लगे कि ऊपर कहीं से सिलेंडर ले आएं, हमारे पास वार्ड ब्वॉय नहीं है। एंबुलेंस के कर्मचारी आकर सिलेंडर ढूंढकर लाया। करीब डेढ़ घंटा बीत चुका था। वहीं मौत के बाद भी लाश एंबुलेंस में पड़ी रही।

बुजुर्गों के साथ अब युवा भी दम तोड़ रहे, निजी स्कूल संचालक, नगर पालिका इंजीनियर के बेटे व पूर्व पार्षद की मौत

17 साल की इकलौती बेटी की मौत, मुक्तिधाम पर बिलखता रहा पिता
{बुजुर्गों के बाद अब कोरोना से युवा भी दम तोड़ रहे हैं। मंगलवार को 40 साल के शिक्षक धर्मेंद्र खरे के अलावा निजी स्कूल संचालक मुजीव उल्ला खान की ग्वालियर लिंक हॉस्पिटल में इलाज के दौरान मौत हो गई। नगर पालिका शिवपुरी के इंजीनियर एसके पांडेय के बेटे श्रेयशकर पांडेय (30) की सोमवार की रात 10 बजे मौत हो गई।

इसके अलावा पिछोर में दो वार के पूर्व पार्षद एवं नपाध्यक्ष पद के दावेदार हितेंद्र उर्फ हल्केराम लोधी (40) निवासी नई बस्ती हनुमान बाग की कोरोना संक्रमित होने के बाद मौत हो गई है। 35 साल के बृजेश लोधी निवासी शिवपुरी 32 साल के प्रताप प्रजापति पुत्र दीपक प्रजापति निवासी गुना ने भी शिवपुरी में दम तोड़ दिया। {इलाज के दौरान 17 साल की वर्षा जोशी पत्नी वीरेंद्र जोशी निवासी रामनगर करैरा की मौत हो गई। मुक्तिधाम शिवपुरी पर अंत्येष्टि के लिए पिता पहुंचा। अंत्येष्टि से पहले पता चला कि वीरेंद्र जोशी की यह इकलौती संतान थी। पिता मुक्तिधाम पर बिलखता रहा। कर्मचारियों ने अंत्येष्टि की व्यवस्था कराई।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें