पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हनीट्रैप गैंग:मौसेरे भाई ने लड़की का नंबर देकर युवक को फंसाया, 4 साथियों ने पीटा, 3 लाख रु. भी मांगे

शिवपुरी17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
युवक कमल किशोर को मेडिकल के लिए जिला अस्पताल लाते हुए। - Dainik Bhaskar
युवक कमल किशोर को मेडिकल के लिए जिला अस्पताल लाते हुए।
  • 3 लाख रुपए में से 20 हजार रु. के लालच में मौसेरे भाई ने ही फंसाया
  • पीड़ित युवक को खंडहर में ले जाकर दुष्कर्म और छेड़छाड़ के केस में फंसाने की धमकी देकर ब्लैकमेलिंग

शिवपुरी शहर में हनीट्रैप का मामला सामने आया है। मौसेरे भाई ने युवक को लड़की का नंबर दिया और फोन पर बातचीत के बाद लड़की ने मिलने के लिए बुलाया। खंडहर में ले जाकर गैंग में शामिल अपने चार अन्य साथियों को बुला लिया। इसके बाद युवक की मारपीट की और 3 लाख रुपए की मांग करने लगे। हनीट्रैप गैंग में शामिल लड़की, सूत्रधार मौसेरे भाई को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है जबकि गैंग के चार अन्य सदस्य फरार हो गए।

पीड़ित युवक नरोत्तम धाकड़ के मौसेरे भाई कमलकिशोर धाकड़ ने षडयंत्र के तहत हनीट्रैप में फंसाने के लिए लड़की का माेबाइल नंबर दे दिया। नराेत्तम के पिता शिक्षक हैं, इसलिए हनीट्रैप गैंग काे नरोत्तम से मोटी रकम मिलने की उम्मीद थी।

इस रकम में से कमलकिशोर को भी 20 हजार मिलने वाले थे लेकिन घटना के बाद नरोत्तम पुलिस के पास चला गया और हनीट्रैप गैंग का खुलासा हो गया। हनीट्रैप गैंग की लड़की व युवक का कहना है कि वह शिवपुरी शहर में पांच से छह महीने से सक्रिय हैं लेकिन इस गैंग के पहले से सक्रिय होने की आशंका है। हनीट्रैप गैंग का शिवपुरी शहर के कई धनाढ्य लोग शिकार हो चुके हैं। ब्लैकमेलिंग में लाखों रुपए गंवाने वालों की कोतवाली थाने में लिस्ट लंबी होती जा रही है।

मौसेरे भाई ने लड़की का नंबर देकर हनीट्रैप में फंसाया

नरोत्तम (25) पुत्र सीताराम धाकड़ निवासी हनुमान कॉलोनी शिवपुरी को उसी के मौसेरे भाई कमलकिशोर धाकड़ पुत्र हरीसिंह धाकड़ निवासी ग्राम जामखो ने प्रियंका (21) पत्नी हेमंत प्रजापति नाम की लड़की का नंबर दिया। चार-पांच दिन फोन पर बातचीत के बाद प्रियंका ने नरोत्तम को प्रेमजाल में फंसा लिया। फिर मिलने के बहाने प्रियंका ने 10 जुलाई की दोपहर नरोत्तम को फोन करके फतेहपुर चौराहे पर बुला लिया। नरोत्तम ने अपने मौसेरे भाई कमलकिशोर को भी बाइक पर संग लिया। चौराहे पर मिलने के बाद प्रियंका ने बड़ौदी चलने की बात कही और एक खंडहर में पहुंच गए। पहले से तय प्लानिंग के तहत हनीट्रैप गैंग के चार साथी दो बाइकों से आ धमके, तभी लड़की अचानक आरोप लगाने लगी कि नरोत्तम मेरे साथ गलत कर रहा है। हनीट्रैप गैंग के युवकों ने नरोत्तम की पिटाई भी कर दी।

पिता ने सुबह पैसे देने की कहा, तब नरोत्तम को छोड़ा

नरोत्तम की मारपीट कर दुष्कर्म व छेड़छाड़ के केस में फंसाने की धमकी दी गई। इसके बाद शिक्षक पिता को फोन लगाकर बातचीत की। पिता ने 11 जुलाई की सुबह तीन लाख रुपए देने की बात कही, तब जाकर नरोत्तम को हनीट्रैप गैंग ने छोड़ा। अपने साथ रचे गए षडयंत्र के बाद नरोत्तम कोतवाली पुलिस थाने पहुंच गया। सारी घटना बताने के लिए पुलिस ने छानबीन की और फिर हनीट्रैप गैंग पर केस दर्ज कर लिया।

सिर्फ नरोत्तम से पैसे मांगे, इसलिए पुलिस को कमल किशोर पर शक हुआ, सख्ती की उगल बैठा राज

शुरुआत में मामला सामने आने के बाद पुलिस ने छानबीन की। खास बात यह रही कि हनीट्रैप गैंग के इस जाल में फंसाकर सिर्फ नरोत्तम से पैसे मांगे जबकि उसके मौसेरे भाई कमलकिशोर से कोई डिमांंड नहीं की। इसलिए पुलिस को शक हुआ। पुलिस ने जांच के बाद प्रियंका और कलकिशोर को गिरफ्तार कर लिया जबकि गैंग के फरार चारों साथियों की तलाश की जा रही है।

ब्लैकमेलिंग के शिकार अन्य भी करें शिकायत

एक लड़के को उसी के रिश्तेदार ने लड़की का फोन नंबर देकर फंसाया था। ब्लैकमेलिंग का शिकार लोग शिकायत दर्ज कराने आ रहे हैं। यदि अन्य किसी के साथ ब्लैकमेलिंग हुई है तो कोतवाली थाने आकर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। -बादाम सिंह यादव, टीआई, सिटी कोतवाली

गैंग में अन्य लोग भी हैं, जल्द गिरफ्तार करेंगे

लोगों को षड्यंत्र के तहत जाल में फंसाकर लूटपाट के मामले में कोतवाली थाने में प्रकरण दर्ज किया है। एक लड़की व युवक को गिरफ्तार किया है। गैंग में अन्य लोग भी शामिल हैं, उनको भी जल्द गिरफ्तार करेंगे। शहर में कितने लोग ब्लैकमिंग का शिकार हुए हैं, इसकी जांच करा रहे हैं। -राजेश सिंह चंदेल, एसपी शिवपुरी

इधर... प्लॉट दिखाने के बहाने बुलाकर रिटायर्ड बाबू की दो तौला चैन व अंगूठी लूटी

जल संसाधन विभाग से रिटायर्ड बाबू के साथ भी लूटपाट का मामला सामने आया है। प्लॉट दिखाने के बाद 2 जुलाई को 64 साल के बाबू को बुला लिया और उनकी मारपीट कर 2 तौला सोने की चैन व एक अंगूठी लूट ली। कोतवाली पुलिस ने मंगलवार को धारा 392, 11/13 एमपीडीपीके एक्ट के तहत केस दर्ज कर मामला विवेचना में ले लिया है।

खबरें और भी हैं...