पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

योजना:अब सार्वजनिक स्थानों पर नहीं बेच सकेंगे घास, गोशाला के बाहर ही कर सकेंगे बिक्री

शिवपुरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • तैयारी}पुरानी लुधावली स्थित गोशाला की रंगत बदलने के लिए योजना बनाई

शहर की सबसे पुरानी लुधावली गौशाला की रंगत अब बदली जा रही है। गंदगी से भरे गड्‌ढों में गोहरे अधिक होने से वह गायों को काट रहे हैं जिससे उनकी मौत हो रही हैं इसलिए गाय के लिए नए 3 टीन शेड यहां बनाने की तैयारी नपा ने की है। वहीं ऊबड़ खाबड़ रास्ते पर पेवर्स ब्लॉक लगाकर स्वतंत्र विचरण के लिए नपा ने प्लान बनाया है। खास बात यह है कि शहर में अब हर कहीं चारे का विक्रय गाड़ी लगाकर नहीं होगा। वरन गोशाला के बाहर घास विक्रेताओं को अपने ठेले लगाने होंगे ताकि गौशाला आने वाले लोगों को गायों के लिए हर समय घास उपलब्ध हो।
शहर के लुधावली में वार्ड क्रमांक-16 के अंतर्गत आने वाली गोशाला जर्जर हालत हैं। इसके जीर्णोद्धार की तैयारी अब नगरपालिका शिवपुरी ने की है। इसके तहत एक नया टीनशेड तो निर्मित हो गया है और भूसा रखने की भी व्यवस्था यहां बन गई है, लेकिन गोशाला में रहने वाली 200 गाय और बैल के लिए अतिरिक्त टीन शेड की आवश्यकता है। यहां पुराने जर्जर भवनों के जीर्णोद्धार की प्रक्रिया भी नगरपालिका सीएमओ केके पटेरिया और एचओ गोविंद भार्गव ने तैयार की है, लेकिन प्रारंभिक चरण में अभी बजट का अभाव है इसलिए टीन शेड लगाकर यहां फिलहाल व्यवस्था बनाई जा रही है। एक टीनशेड में अभी 50 के आसपास पशु खड़े हो सकते हैं, लेकिन यह पर्याप्त नहीं है इसलिए यहां तीन अतिरिक्त टीन शेड का निर्माण भी किया जाएगा।
सुविधा बढ़ी तो यहां 200 की जगह 2000 गाय भी रह सकेंगी

यहां सेवा कार्य को आने वाले विनोद पुरी गोस्वामी, विवेक अग्रवाल ने बताया कि यह परिसर इतना बड़ा है कि यहां 200 गोवंश की जगह 2000 तक गोवंश विचरण कर सकता है, लेकिन गंदगी अधिक होने से यहां गायों को तकलीफ होती है इसलिए यहां पेवर्स ब्लॉक का प्रस्ताव तो अच्छा है, लेकिन सुविधा के साथ और विस्तार होने की आवश्यकता है ताकि यह लुधावली गोशाला भी सेसई की दयोदय पशु सेवा केंद्र और खनियांधाना की गोशाला की तरह विकसित हो सके। सार्वजनिक स्थान और चौराहों पर घास विक्रेता घास नहीं बेच सकेंगे, वाहन गोशाला में लगाने होंगे: नपा के एचओ गोविंद भार्गव ने बताया कि अब सार्वजनिक स्थानों और चौराहों पर घांस विक्रेता घांस नहीं बेच सकेंगे। क्योंकि गोशाला में बंधी गायों को घास की सर्वाधिक आवश्यकता होती है और जो लोग गोशाला आते हैं उन्हें बाजार से गोशाला तक घांस लाने के लिए वाहन के अतिरिक्त पैसे देने पड़ते हैं। इसलिए सभी घास विक्रेताओं को अब अपने वाहन गोशाला के बाहर खाली स्थान पर लगाने होंगे। इसके दो फायदे होंगे पहला गायों को हरा घास मिल जाएगा और दूसरा घास विक्रेताओं को भी बाजार उपलब्ध हो जाएगा।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय आर्थिक पक्ष पहले से अधिक सक्षम और सुदृढ़ स्थिति में रहेगा। कुछ समय से चल रही चिंताओं से राहत मिलेगी। परिवार के लोगों की हर छोटी-मोटी जरूरतें पूरी करने में आपको आनंद आएगा। अचानक ही किसी ...

और पढ़ें