वेतन नहीं मिला:तीन महीने से नहीं मिला वेतन, सफाई कर्मियों ने अस्पताल में काम बंद किया

शिवपुरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकार से बजट ना मिलने से सफाई कर्मचारी परेशान ही नजर आए

जिला चिकित्सालय में सफाई कर्मियों ने काम बंद कर दिया है। पिछले 3 महीने से वेतन न मिलने से परेशान 49 कर्मचारी और 3 सुपरवाइजर ने काम इसलिए बंद किया क्योंकि उन्हें समय पर वेतन नहीं मिल रहा। वेतन न मिलने से परेशान कर्मचारियों के हड़ताल पर चले जाने से अब जिला चिकित्सालय में मरीज और अटेंडरों के साथ-साथ वहां काम करने वाले डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ को भी बड़ी परेशानी आने वाली है, क्योंकि यहां गंदगी की सफाई करने वाला कोई भी नहीं है। दरअसल मंगलवार को अचानक जिला चिकित्सालय के सफाई कर्मचारी इस वजह से हड़ताल पर चले गए क्योंकि उन्हें वेतन ना मिलने से खाने के लाले पड़ रहे हैं। कर्मचारियों का कहना है कि न्यूनतम वेतन पर कलेक्ट्रेट रेट के आधार पर वह काम कर रहे हैं, बावजूद इसके उन्हें पिछले 3 महीनों से वेतन नहीं मिला।

जिस एजेंसी के थ्रू यह सफाईकर्मी काम पर लगे हैं उसके साइट इंचार्ज रवि सिंह बैस ने बताया कि पहले मई से भुगतान अस्पताल प्रबंधन ने अटका रखा था जब पैसे की मांग की गई तो ठेकेदार ने स्वयं कुछ राशि उन्हें दे दी थी। लेकिन सरकार से बजट ना मिलने से सफाई कर्मचारी परेशान ही नजर आए। रवि की मानें तो सफाई कर्मियों का मई से भुगतान नहीं हुआ है। और फिलहाल 3 महीने से तो उन्हें कुछ भी नहीं मिला है।जिस वजह से वह परेशान है और उनकी परेशानी का समाधान हम आज कल में कर लेंगे।रवि ने तो यहां तक दावा किया कि सफाई कर्मी उनकी बात को मानेंगे और बुधवार से काम पर लौट आएंगे। जबकि जिला चिकित्सालय के सिविल सर्जन डॉ राजकुमार ऋषिश्वर का कहना है कि कुछ पार्ट पेमेंट बजट आने पर हमने पहले कर दिया था और बजट आते ही शेष पेमेंट भी हम कर देंगे। थोड़ा इंतजार और धीरज इन्हें रखना चाहिए। इस मामले में साइट इंचार्ज रवि सिंह वैश्य का कहना है कि पिछले महीने हमने अपनी जेब से इन्हें सितंबर तक का भुगतान किया। बजट नहीं आया, इस वजह से सफाई कर्मी परेशान है। हम उन्हें मनाने की कोशिश कर रहे हैं। बुधवार से संभवत वह काम भी शुरू कर देंगे। वहीं सिविल सर्जन डॉ. राजकुमार ऋषिश्वर का कहना है कि बजट नहीं आया इस वजह से परेशानी है। जैसे ही बजट आता है, हम वैसे ही इनका भुगतान कर देंगे।

खबरें और भी हैं...