पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अब रिजल्ट के लिए यहां से वहां भटक रहे छात्र:छात्रों ने पूछा- 10 महीने बाद भी नहीं आया रिजल्ट, जिम्मेदार बोले- उत्तर पुस्तिकाएं खो गईं

शिवपुरी13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आईटीआई के छात्र। - Dainik Bhaskar
आईटीआई के छात्र।

शिवपुरी के आईटीआई में पढ़ने वाले सैकड़ों छात्रों की उत्तर पुस्तिका खो जाने के कारण सैकड़ों परीक्षार्थी रिजल्ट के लिए परेशान होने का मामला सामने आया है।

इसको लेकर छात्र शिवपुरी से लेकर भोपाल तक गुहार लगा चुके हैं, लेकिन परीक्षा के 10 महीने बाद भी रिजल्ट घोषित नहीं किया गया है।

मंत्रियों के भी है संज्ञान में मामला

दरअसल शैक्षणिक सत्र 2018-19 में स्टेनो के जिन छात्रों की बैक लगी थी, उनकी पूरक परीक्षा दिसंबर 2020 में आयोजित कराई गई थी। शिवपुरी की आईटीआई के सैकड़ों छात्र इस परीक्षा में शामिल हुए। इसके बाद कॉपी सरकारी आईटीआई के माध्यम से ग्वालियर और वहां से सागर भेज दी गईं। बताया जा रहा है सागर में किसी क्लर्क की गलती से उत्तर पुस्तिकाएं खो गईं, जिसका दुष्परिणाम यह हुआ है कि रिजल्ट घोषित नहीं हो पा रहा है। वहीं छात्रों का आरोप है कि उनके साथ आईटीआई संचालकों की लापरवाही के कारण यह हालात निर्मित हुए हैं, जबकि आईटीआई संचालकों के अनुसार इसमें उनका कहीं कोई दोष नहीं हैं। बच्चों की कॉपियां सागर से खोई हैं।

आईटीआई संचालकों के अनुसार वह भोपाल तक मामले की शिकायत कर चुके हैं। मामला अधिकारियों के साथ-साथ मंत्रियों के संज्ञान में भी है। बावजूद इसके मामले में कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। इस मामले में जब उपसंचालक सुनील देसाई को भोपाल फोन लगाया गया तो उनका फोन आउट ऑफ रेंज था।

यह बोले जिम्मेदार

वहीं चित्रांश कंप्यूटर आशीष श्रीवास्तव ने बोले कि हमारे यहां से कोई गलती नहीं हुई है, हमने एग्जाम करवाये हैं। रिजल्ट नहीं आने पर जब हमने पता किया तो हमें बताया गया कि उत्तर पुस्तिका खो गईं हैं इस कारण रिजल्ट नहीं आया है। इसमें हमारी कोई गलती नहीं है।

वहीं आईटीआई प्रिंसीपल नितिन मंदसौर ने बताया कि यह मामला संचालनालय स्तर का है। आज बच्चों की शिकायत पर मुझे और आईटीआई संचालकों को डिप्टी कलेक्टर ने बुलाया था। मैंने कहा है कि मुझे लिखकर दो, जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...