पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हद है:दक्षता परीक्षा देने बैठे शिक्षकों ने परीक्षक से पूछा- शब्दों में रोल नंबर कैसे लिखना है

शिवपुरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बोर्ड परीक्षा में 40% से कम परिणाम देने वाले शिक्षकों के लिए मुसीबत बनीं परीक्षा

बोर्ड परीक्षा के दौरान 40 फीसदी से कम परिणाम देने वाले शिक्षकों के लिए दक्षता परीक्षा मुसीबत का सबब बन गई। हद तो तब हो गई जब परीक्षा कक्ष में बैठे परीक्षक से परीक्षा देने आए शिक्षकों ने यह पूछ लिया कि सर शब्दों में रोल नंबर कॉपी में कैसे लिखना है।

यही नहीं किताबें- कॉपियां खोलकर उत्तर लिखने की स्वतंत्रता के बाद भी शिक्षक कॉपियों में 100 फीसदी सवालों के हल नहीं कर पाए। कुल मिलाकर दक्षता परीक्षा में सही ढंग से शिक्षकों की दक्षता परखी जाए तो फिर इनकी नौकरी खतरे में पढ़ सकती है।

जिले के हाई स्कूल और हाई सेकेंडरी स्कूलों में पढ़ाने वाले शिक्षकों की दक्षता परीक्षा विभाग इसलिए ले रहा है ।ताकि भविष्य में वह गलतियां ना करें।जिस विषय को शिक्षक पढ़ा रहा है उसकी दक्षता का मूल्यांकन भी हो।

इस वजह से 40 फीसदी से कम परिणाम देने वाले शिक्षकों की दक्षता परीक्षा आयोजित की गई। सोमवार को उत्कृष्ट विद्यालय में दर्ज 117 शिक्षकों में से 112 शिक्षक ही परीक्षा देने आए। 4 शिक्षक गैरहाजिर रहे। और 1 शिक्षक कोरोना हो जाने के चलते परीक्षा में शामिल नहीं हो सका। इस परीक्षा में गैर हाजिर 4 शिक्षकों को नोटिस देने की बात डी ई ओ दीपक पांडेय ने कही है।

जिस शिक्षक की वजह से स्कूल का रिजल्ट बिगड़ा उसका नाम परीक्षा में शामिल नहीं, डीईओ ने कहा- जो छूट गए उन्हें भी परीक्षा देनी होगी

बमना में पदस्थ माध्यमिक शाला के शिक्षक सुशील शर्मा, अनिल गुप्ता और अभिषेक ने जिला शिक्षा अधिकारी दीपक पांडे से कहा कि हमारे यहां के शिक्षक इंद्रपाल सिंह की दक्षता परीक्षा नहीं ली गई। जबकि उन्हीं की वजह से स्कूल का परिणाम बिगड़ा ।जबकि हम शिक्षक पोषक शाला से संबंधित है। और हमारी परीक्षा में दक्षता देखी जा रही है। यह ठीक नहीं है ।अनिल गुप्ता ने तो यहां तक कहा कि उनके विषय का परीक्षा परिणाम 42 फीसदी रहा जबकि परीक्षा 40 फीसदी तक की ली जा रही है। तो फिर उनका नाम इसमें क्यों आ गया। यह समझ से परे है ।डीईओ दीपक पांडे ने कहा कि जो शिक्षक परीक्षा देने से छूट गए हैं या किसी वजह से इनका नाम शामिल नहीं हो पाया है तो हम मामले की पूरी जांच कराकर उन्हें भी परीक्षा दिलाएंगे।

100 में ले 46 अंक नहीं ला पाए तो शिक्षक होंगे सस्पेंड

शिक्षकों की दक्षता परीक्षा में उन्हें 100 नंबर की परीक्षा में न्यूनतम 46 अंक से कम नहीं लाना है। 46 नंबर से कम आने पर सेवानिवृत्ति की बात कही जा रही है। यानी भले ही उनकी सर्विस कितनी ही बाकी हो। विभाग उन्हें शिक्षक नहीं रखेगा जो पात्रता परीक्षा भी पास नही कर सके।कॉपियों का मूल्यांकन दोपहर 3 बजे जब परीक्षा खत्म हुई उसके साथ ही शुरू हो गया। शाम 7बजे तक इनका मूल्यांकन कार्य गोपनीय रूप से विभाग को भेज भी दिया गया।

कक्ष में उत्तर लिखते समय परेशान नजर आए शिक्षक

नाम ना छापने की शर्त पर उत्कृष्ट विद्यालय में परीक्षा ले रहे परीक्षक ने बताया कि जिस कक्ष में उनकी ड्यूटी लगी थी उसमें 16 परीक्षार्थी थे। और उनमें से तीन तो ऐसे थे जो पूछ रहे थे कि उन्हें शब्दों में रोल नंबर कॉपी पर कैसे लिखना है ।यही नहीं आखरी समय तक किताबों में उत्तर देखते शिक्षक नजर आए फिर भी वह प्रश्न पत्र हल नहीं कर सके।

हालांकि शिक्षकों की दक्षता परीक्षा में उन्हें कॉपी गाइड आदि सामग्री ले जाने की पात्रता थी जिसमें देखकर वह उत्तर अपनी उत्तर पुस्तिका में लिख सकें। लेकिन 3 घंटे की अवधि में 100 नंबर के प्रश्न पत्र को वह हल नहीं कर सके। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि कॉपी में देखने के बाद भी जब शिक्षक उत्तर नहीं लिख पा रहे हैं तो फिर वह कैसे विद्यार्थियों को पढ़ा कर उनका मार्गदर्शन करेंगे ।

4 शिक्षकों को नोटिस देंगे

पहले इस परीक्षा में 147 शिक्षकों को शामिल होना था। शिक्षकों की आपत्ति के बाद जांच कमेटी ने परीक्षा देने वाले शिक्षक 117 चुने। 4 शिक्षक परीक्षा देने नहीं आए। इनके खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी होगा। वही एक शिक्षक को कोरोना था। इस वजह से उन्होंने अपने संकुल प्राचार्य के माध्यम से आवेदन भिजवाया। इसलिए 112 ने परीक्षा दी। और 5 अनुपस्थित माने गए।

-दीपक पांडे, जिला शिक्षा अधिकारी शिवपुरी

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें