पिता-पुत्र पर हमला:खेत हड़पने चचेरे भइयों ने पिता-पुत्रों को मारी गोली, कुल्हाड़ी से भी किया वार, मरा समझकर छोड़ गए

शिवपुरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पिछोर के जूंगीपुरा गांव में चचेरे भाइयों ने खेत हड़पने के लिए तीन सगे भाइयों बलवीर यादव, अमोल यादव, ताकत सिंह यादव के साथ उनके पिता श्रीराम यादव पर गोलियां दाग दी। इतना ही नहीं लाठी औ कुल्हाड़ी से भी वार किया। गंभीर घायल होने पर पीड़ित जमीन पर गिर गए तो मरा समझकर वे खेत पर ही छोड़कर भाग गए।

सीमांकन कराने से नाराज थे आरोपी
जूंगीपुरा निवासी श्रीराम व उसके भाई के बीच पुस्तैनी जमीन का बंटवारा बराबर हुआ था। इसके बाद श्रीराम यादव के यहां तीन बेटे बलवीर, अमोल, तखत सिंह हुए, जिनमें इस जमीन का बंटवारा होना था, जबकि श्रीराम के भाई की जमीन छह हिस्सों में बंट गई। इसी के चलते दोनों पक्षों में विवाद चल रहा था।

पीड़ितों का आरोप है कि विवाद को खत्म करने साेमवार तहसील से आरआई, पटवारी व पुलिस को बुलाकर जमीन का सीमांकन कराया गया थी, इसी बात से क्षुब्ध होकर रामस्वरूप यादव, शंकर सिंह, बल्लू, रामस्वरूप शिवराज सिंह व कल्ला ने अपने चाचा सहित चचेरे भाई बलवीर, अमोल, तखत सिंह पर सीमांकन के बाद पुलिस के पीठ फेरते ही लाठी, कुल्हाड़ी से हमला के दिया। जब इससे भी मन नहीं भरा तो उन पर ताबड़तोड़ फायर कर दिए। इसके बाद उन्हें मरा समझ कर आरोपी वहां से भाग गए।