नगर समिति की बैठक:जरूरतमंद बच्चों को खोज कर पढ़ाना ही असली समाजसेवा

शिवपुरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सेवा भारती सहरिया वनवासी छात्रावास में नगर समिति की बैठक आयोजित

अपने बच्चों की देखरेख और उनकी शिक्षा-दीक्षा तो हर कोई करा लेता है। लेकिन जो आदिवासी क्षेत्रों में है, वनवासी लोग हैं, उनके बच्चों को शिक्षित बनाकर समाज में योग्यता का पैगाम सिखाना गौरव की बात है। जो व्यक्ति इस तरह की पहल करता है वही सच्चा समाज सेवक होता है यह बात वनवासी विद्यालय में आयोजित हुई बैठक के दौरान जिला चिकित्सालय के सिविल सर्जन डॉक्टर राजकुमार ऋषिश्वर ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि जिन्हें हम सहरिया कहते है कि वह विकास की मुख्य धारा में शामिल हो रहे है और यह सब जानकर बड़ी खुशी हो रही है कि शिवपुरी में सहरिया वनवासियों के उत्थान में सेवाभारती संस्था द्वारा अपना अमूल्य योगदान दिया जा रहा है। जिसका परिणाम यह है कि वनवासी छात्रों के जीवन में भी बदलाव आने लगा है।निश्चित रूप से संस्था के सही उद्देश्य और कार्य होंगें तब उसके परिणाम भी फलीभूत होंगें। इसके साथ ही कोरोना काल जैसे हालातों में सेवा भारती संस्था के पदाधिकारी और सदस्यों ने मिलकर जो कार्य किया है वह भी अग्रणी है।

जिन्हें भुलाया नहीं जा सकता। सेवा भारती सहरिया वनवासी छात्रावास में आयोजित साधारण सभा की बैठक में मेडिकल कॉलेज के अधीक्षक डॉ के बी वर्मा ने स्थानीय सेवा भारती संस्था से जुड़े सदस्यों को संबोधित कर संस्था के कार्यो की प्रशंसा की। और सेवा भारती संस्था के अग्रणी कार्यों को सराहा और अपनी ओर से हर संभव सहयोग, चिकित्सकीय व्यवस्था प्रदान करने का आश्वासन दिया। कार्यक्रम का प्रारंभ मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण और दीप प्रज्वलन कर किया गया। सेवा गीत संस्था सचिव शैलेश विरमानी द्वारा गाया गया।

तत्पश्चात नगर में चल रही सेवा कार्यों की विस्तृत जानकारी गोविंद बंसल द्वारा दी गई। इसके बाद वर्ष 2020-21 का वार्षिक प्रतिवेदन आय व्यय का गोपाल बंसल कोषाध्यक्ष द्वारा दिया गया। कोरोना काल में किए गए सेवा कार्यों का विस्तृत विवरण जिला अध्यक्ष ओम बंसल द्वारा संकलित वीडियो फिल्मों के माध्यम से आए हुए अतिथियों और संस्था सदस्यों के समक्ष प्रस्तुत किया गया, साथ ही बताया कि अमेरिका स्थित कंप्यूटर हार्डवेयर कंपनी कोरसेयर द्वारा कोरोना काल में संस्था द्वारा द्वारा किए जा रहे सेवा कार्यों से प्रभावित होकर 10 हज़ार डॉलर की राशि संस्था को प्रदान की गई।

इस कार्य में विशेष भूमिका ओम बंसल की पुत्री पूर्वी बंसल और उनके दामाद योगेश केडिया की रही। जो बेंगलुरु में सीए हैं। कोरोना कॉल में जय सिंह सेन और नारायण सेन द्वारा किए गए कार्यों से प्रभावित होकर संस्था द्वारा उन्हें 1100-1100 रुपए एवं शॉल एवं श्रीफल द्वारा सम्मानित किया गया। आभार प्रदर्शन संस्था के नगर अध्यक्ष यशवंत खंडेलवाल द्वारा किया गया। संचालन सचिव शैलेश विरमानी द्वारा किया गया।

खबरें और भी हैं...