पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जांच में भी रस्मअदायगी:दोषियों को बचाने की कोशिश; गाेदाम में जो चावल सबसे खराब, उसके ही सैंपल टीम ने नहीं लिए

शिवपुरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
क्वालिटी कंट्रोल आरके थोराट चावल की जांच करते हुए।
  • पीईजी, लुधावली गोदामों से 6 सैंपल लिए, 2 सैंपल भोपाल, ग्वालियर भेजेंगे
  • रीवा से शिवपुरी में उतरी रैक में 26 हजार क्विंटल में से अधिकांश चावल है खराब

गरीबों में बांटने के लिए रीवा से आई रैक में खराब चावल निकलने का खुलासा होने के बाद मप्र स्टेट सिविल सप्लाई कॉर्पोरेशन बुधवार को हरकत में आया। ग्वालियर से क्वालिटी कंट्रोलर भेजकर धान के सैंपल लिए गए हैं। खासबात यह है कि शिवपुरी में जो सबसे ज्यादा खराब चावल था, उसका एक भी सैंपल नहीं लिया गया। इसके बावजूद जो सैंपल लिए हैं, उसमें कीड़े और टूटन के अलावा कुछ दाने सड़े हुए भी पाए गए हैं।

सिविल सप्लाई कॉर्पोरेशन द्वारा शिवपुरी भेजे गए क्वालिटी कंट्रोलर आरके थोरट ने पीईजी गोदाम रातौर और वेयर हाउसिंग कॉर्पोरेशन के लुधावली स्थित गोदाम पहुंचकर तीन-तीन सैंपल भरे हैं। कुल 18 सैंपल लिए हैं। जिनमें से एक-एक सैंपल भोपाल और ग्वालियर भी भेजा जाएगा।

26 हजार क्विंटल में से अधिकांश चालब है खराब
रीवा से शिवपुरी में उतरी रैक में 26 हजार क्विंटल में से अधिकांश चावल खराब है। अब देखना है कि उक्त चावल को सिविल सप्लाई कॉर्पोरेशन क्या कार्रवाई करता है। यदि रीवा के मिल मालिक व जिम्मेदार अफसरों को बचाने की कोशिश हुई तो स्थानीय अफसरों पर कार्रवाई हो सकती है। क्योंकि खराब चावल उचित मूल्य दुकानों पर बंटने पहुंचा तो फिर से पोल खुलना तय है।

ग्रेडिंग के बाद ही खाने योग्य हो पाएगा चावल
रीवा से रैक में 26 हजार क्विंटल चावल में 60% से 70% तक खराब होने की बात सामने आ रही है। इस चावल की वापस मिल में ही ग्रेडिंग होना जरूरी है। बिना ग्रेडिंग चावल भेजा तो यह खाने योग्य नहीं रहेगा। सूत्रों के अनुसार एफएक्यू चावल में टूटन व सड़ा चावल मिलाकर शिवपुरी जिले में खपाने की कोशिश है।

इधर... गुना भेजा चावल भी खराब, गोदाम में रखवाया
शिवपुरी में उतरी रैक में से चावल दतिया, अशोकनगर व गुना जिले में भेजा गया है। जैसे ही चावल गुना पहुंचा, वेयर हाउसिंग कॉर्पोरेशन ने जांच में चावल खराब पाया। नोन-एफएक्यू चावल को अलग से रखवा दिया। ताकि गोदाम में रखा दूसरा माल भी खराब होने से बच सके। शिकायत के बाद खुद क्वालिटी कंट्रोलर को लेकर गुना पहुंचे।

पैरामीटर के अनुसार नहीं होने पर माल को बदलवाएंगे
क्वालिटी कंट्रोलर ने सैंपल लिए गए हैं। रिपोर्ट कल तक बनाकर भेजेंगे। आगे इस चावल का क्या करना है, उसके लिए ऑर्डर करके इशु कराएंगे। हमारे पैरामीटर के अनुसार नहीं होने पर माल को बदलवाएंगे। गुना में भी 2400 बोरी चावल है, जो खराब है उसे बदलवाएंगे।
जगदीश कुमार, रीजनल मैनेजर, मप्र स्टेट सिविल सप्लाई कॉर्पाेरेशन ग्वालियर

चावल के सैंपलों में भी कीड़े रेंगते नजर आए
गोदामों पर उतरे चावल का क्वालिटी कंट्रोलर द्वारा सैंपल भरकर सिविल सप्लाई कॉर्पोरेशन ऑफिस लाए गए। सैंपल के यप में पॉलीथिन में पैक चावलों के अंदर कीड़े रेंगते नजर आए। जबकि सरकार गाेदामाें में रखे चावल, गेहूं आदि में कीड़े पड़ने से रोकने के लिए दवा पर करोड़ों रुपए खर्च करती है। काफी मात्रा में टूटन होने से भी खराबी स्पष्ट दिख रही है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर विजय भी हासिल करने में सक्षम रहेंगे। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से ...

और पढ़ें