पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्थापना दिवस मनाया:हम सभी का सौभाग्य है कि संतों के काल में हमारा जन्म हुआ: आर्यिका मां

बामौरकलां20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आचार्य विद्यासागर का 48वां दीक्षा दिवस व 16वां पाठशाला स्थापना दिवस मनाया

कस्बे के पार्श्वनाथ दिगंबर जैन अतिशय युक्त मंदिर पीपल चौक पंच शिखर मंदिर के आचार्य विद्यासागर स्वाध्याय भवन में आचार्य का 48 व दीक्षा दिवस व पाठशाला का 16वां स्थापना दिवस समारोह मनाया गया।

आर्यिका लक्ष्मी भूषण माता के परम सानिध्य में एवं विजय भैया ( लखनादौन) के निर्देशन में बड़े ही उल्लास से मनाया गया। इस अवसर पर प्रातः काल अभिषेक शांति धारा करने का सौभाग्य सौधर्म इंद्र बनकर संतोष कुमार, प्रमोद कुमार मोदी, ईशान इंद्र, इन्दसैन, विनीत कुमार मिठया, सानत कुमार इंद्र, अशोक कुमार, पीयूष कुमार मोदी, कुबेर इंद्र, गेंदालाल को अवसर प्राप्त हुआ। तथा शांति धारा के लिए सुमत प्रकाश सिंघई, शैलेश पांडे व अशोक कुमार संजीव मिठया को अवसर मिला। आचार्य छत्तीसी विज्ञान का आयोजन किया गया। तथा पाठशाला में कलश स्थापना का अवसर इसमें अभय कुमार, रानू कठरया व प्रकाशचन्द्र, चक्रेश जैन को मिला। इस अवसर पर गत वर्ष पूर्व लिए गए मंगल कलश नरेंद्र कुमार, अभिषेक कुमार, मेडिकल परिवार के यहां कलश स्थापित करने समस्त समाज ने पहुंची।

इस अवसर पर आर्यिका मां द्वारा आचार्य के बाल्य अवस्था से संयमी जीवन पर अवगत कराया। धर्म ध्वजा फहराई। उन्होंने बताया कि हम सभी का सौभाग्य है कि हमारा उनके काल में जन्म हुआ।आचार्य के शिष्यों में मुनि प्रशांत सागर व निर्वेग सागर महाराज ने 16 बर्षों पूर्व संयम ज्ञान की ज्योति जगाई थी। तथा तभी से पाठशाला निरंतर प्रगतिशील है। समापन अवसर पर संपूर्ण जैन समाज का वात्सल्य भोज का आयोजन किया गया।

खबरें और भी हैं...